April 24, 2024
  • होम
  • जीत का जश्न मना रही भाजपा के सामने गुजरात में बड़ी चुनौती

जीत का जश्न मना रही भाजपा के सामने गुजरात में बड़ी चुनौती

गांधीनगर। गुजरात विधानसभा चुनाव मे प्रचंड जीत के बाद भाजपा के सामने बड़ी चुनौती मुंह खोले हुए खड़ी है। पाटीदारों, ओबीसी और दलितों के सहयोग से मिली प्रचंड जीत के बाद गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप मे भूपेंद्र पटेल सोमवार को शपथ लेंगे।
सभी वर्गों को साथ लेकर चलने की सबसे बड़ी चुनौती को भी पार करना भाजपा के लिए बेहद महत्वपूर्ण है।

पाटीदार, ओबीसी और दलितों पर फोकस

182 सदस्यों वाली गुजरात विधानसभा में 15 प्रतिशत ही कैबिनेट के सदस्य के रूप में चुने जा सकते हैं। इसमें मुख्यमंत्री सहित 27 से अधिक सदस्य शामिल नहीं किए जा सकते हैं।
भाजपा के एक नेता के अनुसार मंत्रिपरिषद को यह ध्यान में रखकर बनाया जाएगा कि, उसमे सभी वर्ग पीटीदारों, ओबीसी, दलित महिलाओं सहित समाज के सभी प्रमुख वर्गों को इस सरकार में प्रतिनिधित्व का मौका दिया जाएगा।

इन पुराने मंत्रियों को मिल सकता है मौका

मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के लिए तैयार भूपेंद्र पटेल पिछली सरकार मे मंत्री रह चुके हैं। साथ ही हर्ष संघवी, जीतू वघानी, ऋषिकेश पटेल, कानू देसाई, पूर्णेश मोदी, रघवजी पटेल, मनीषा वकील, जीतू चौधरी एवं जगदीश विश्वकर्मा नई सरकार में संभावित रूप में चल रहे हैं।

नए चेहरों को मिलेगा मौका

युवाओं के लगातार इन चुनावों में भाजपा ने हर्षोत्साहित किया है, सूत्रों के मुताबिक दलित नेता रमन वोरा को अध्यक्ष पद के संभावित नाम के रुप में चर्चा चल रही है ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर और शंकर चौधरी के नाम मंत्री पद के लिए संभावित हैं। जो नेता पिछली सरकार मे मंत्री नहीं रहे थे इस बार भाजपा द्वारा उन्हे भी मौका दिया जाएगा। उन नामों मे रिवाबा जडेजा, अमित ठाकर मुलु बेरा, कांतिलाल अमृतिया, बलवंत सिंह राजपूत, कौशिक वेकारिया और पीसी बरंडा हैं। .

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन