June 22, 2024
  • होम
  • Bharat Jodo Yatra: यात्रा समापन से पहले राहुल गाँधी ने की प्रेस वार्ता, गिनाईं उपलब्धियां

Bharat Jodo Yatra: यात्रा समापन से पहले राहुल गाँधी ने की प्रेस वार्ता, गिनाईं उपलब्धियां

  • WRITTEN BY: Riya Kumari
  • LAST UPDATED : January 29, 2023, 7:20 pm IST

जम्मू कश्मीर: भारत जोड़ो यात्रा के समापन के बाद आज (29 जनवरी) राहुल गांधी ने प्रेस वार्ता की. इस दौरान उन्होंने भारत जोड़ो यात्रा की उपलब्धियां गिनाईं। राहुल गाँधी के अनुसार इस यात्रा को देश भर में शानदार प्रतिक्रिया मिली है।

क्या बोले राहुल गाँधी?

प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी ने बताया कि कैसे उन्होंने यात्रा के दौरान देश के लोगों की ताकत को महसूस किया. और किसानों और बेरोजगार युवाओं की समस्याओं के बारे में सुना. राहुल गाँधी ने मीडिया को बताया कि ‘मैंने इस यात्रा के दौरान बहुत कुछ सीखा है. मैं लाखों लोगों से मिला हूं और उनसे बात की है। मेरे पास इस बात का वर्णन करने के लिए कोई शब्द नहीं है. यह यात्रा का लक्ष्य भारत को एक करना था जो नफरत और हिंसा के खिलाफ थी.. कुल मिलाकर यह मेरे जीवन का सबसे गहरा और खूबसूरत अनुभव रहा.’

370 पर कहा ये

कॉन्फ्रेंस के दौरान राहुल गांधी ने अनुच्छेद 370 से जुड़े सवाल पर कहा कि वह इस बारे में जम्मू में हुई प्रेस वार्ता में भी कह चुके हैं. कांग्रेस की वर्किंग कमेटी के रेजोल्यूशन में इस पर साफ़ किया है कि पार्टी का भी अब यही पक्ष है. राहुल ने आगे बताया कि जम्मू कश्मीर में अपनी यात्रा के दौरान उन्हें घर लौटने जैसे अहसास हुआ. उनके पूर्वज एक समय में जम्मू कश्मीर की धरती को छोड़ कर दूसरे हिस्से में गए थे. उनके शब्दों में, ‘हमें जम्मू और कश्मीर में बहुत प्यार और स्नेह मिला है। मुझे अहसास हुआ कि प्यार और स्नेह बहुत शक्तिशाली शक्ति है। मैं यहां खुले दिमाग से आया हूं।’

कश्मीरी पंडितों के डेलिगेशन से मिले राहुल

बता दें , इससे पहले, 24 जनवरी को राहुल गांधी ने कश्मीरी पंडितों के एक 13 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल से ही मुलाकात की थी। इस बीच राहुल गांधी ने बताया कि जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा को कश्मीरी पंडितों से यह बोलने के लिए माफी मांगनी चाहिए कि “उन्हें भीख नहीं मांगनी चाहिए।”

‘पंडित भीख नहीं मांग रहे हैं’

राहुल गांधी ने बताया , “जब पंडितों का एक प्रतिनिधिमंडल जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल से मिला था , तो उन्होंने उनको बताया था कि ‘उन्हें भीख नहीं मांगनी चाहिए’ उपराज्यपाल, कश्मीरी पंडित भीख नहीं मांग रहे हैं, वे अपना सिर्फ अधिकार मांग रहे है। यहां के उपराज्यपाल को पंडितों से माफी मांगनी होगी। ”

IND vs NZ: लखनऊ के इकाना स्टेडियम में खेला जाएगा दूसरा टी-20, वापसी को तैयार भारत

IND vs NZ: दूसरे टी-20 मैच में बड़ा बदलाव, ईशान की जगह इस खतरनाक बल्लेबाज की वापसी

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन