Balasore Train Accident: तमिलनाडु में 1 दिन का राजकीय शोक, CM स्टालिन ने नवीन पटनायक से की फोन पर बात

चेन्नई। ओडिशा के बालासोर में हुए ट्रेन हादसे पर तमिलनाडु के सीएम एमके स्टालिन ने दुख व्यक्त किया है. इसके साथ ही उन्होंने ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से फोन पर बात कर उन्हें हर संभव मदद देने का भरोसा दिया है. सीएम स्टालिन ने ट्रेन दुर्घटना के बाद तमिलनाडु में एक दिन के राजकीय शोक की घोषणा भी की है. बता दें कि ओडिशा के बालासोर में हुए भीषण ट्रेन हादसे में अब तक 238 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 900 से ज्यादा लोग घायल है.

स्थिति पर बनाए हुए हैं नजर

तमिलनाडु के सीएम एमके स्टालिन राजधानी चेन्नई में स्टेट इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर पहुंचे हैं, यहां वे राज्य सरकार के अधिकारियों के साथ बालासोर ट्रेन दुर्घटना की स्थिति की निगरानी कर रहे हैं. उधर, तमिलनाडु सरकार में मंत्री उदयनिधि स्टालिन, शिव शंकर और अंबिल महेश ओडिशा के लिए रवाना हो गए हैं. तीनों मंत्री घटनास्थल पर पहुंचकर हादसे का जायजा लेंगे.

उदयनिधि स्टालिन ने ये कहा

ओडिशा रवाना होने से पहले चेन्नई एयरपोर्ट पर मीडिया से बात करते हुए मंत्री उदयनिधि स्टालिन ने कहा कि हम घटनास्थल का जायजा लेने के लिए और पाड़ितों से बातचीत करने के लिए वहां जा रहे हैं. तमिलनाडु के सीएम ने ओडिशा के सीएम से बात की है. मौके पर पहुंचकर आपको अपडेट करूंगा. तमिलनाडु में ट्रेन दुर्घटना से प्रभावित तमिल लोगों के लिए अस्पताल की सुविधा भी तैयार है.

घटनास्थल पर पहुंचे रेल मंत्री

हादसे का जायजा लेने के लिए घटनास्थल पर पहुंचे केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि जिनके परिवार के सदस्यों की इस हादसे में मृत्यु हो गई, उनके प्रति मेरी संवेदनाएं हैं. उन्हें सरकार हर संभव मदद करेगी. रेलवे ने कल ही मुआवजे का ऐलान कर दिया था, जांच कमेटी का भी गठन किया गया है. रेलवे, NDRF, SDRF की टीम बचाव कार्य में जुटी हुई. फिलहाल हमारा ध्यान बचाव कार्य पर है. राहत और बचाव कार्य खत्म होने के बाद ही बहाली का कार्य शुरू कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि पहले से ही बहाली के लिए मशीनें तैनात हैं.

कैसे हुआ इतना भीषण हादसा?

यह हादसा कल शाम करीब 7 बजे बालासोर के बहानगा बाजार स्टेशन के पास हुआ, जब कोलकाता से चेन्नई जा रही कोरोमंडल एक्सप्रेस और यशवंतपुर-हावड़ा एक्सप्रेस डिरेल हो गई. इसके बाद कोरोमंडल ट्रेन एक मालगाड़ी से जा टकराई. रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, पहले यशंवतपुर-हावड़ा एक्सप्रेस डिरेल हुई और इसके कुछ डिब्बे दूसरी पटरी पर पलट गए और वे दूसरी तरफ से आ रही शामीमार-चेन्नई कोरमंडल से टकरा गए. इसके बाद कोरोमंडल ट्रेन के भी कुछ डिब्बे पटरी से उतर गए और दूसरे ट्रैक पर मालगाड़ी से टकरा गए. कुछ डिब्बे तो मालगाड़ी के ऊपर चढ़ गए.

ओडिशा ट्रेन हादसे की जांच करेगा ये अफसर, रेल मंत्री से इस्तीफे की हो रही मांग

Latest news

spot_img