बाबा बालकनाथ ने छोड़ी लोकसभा की सदस्यता, सीएम पद की रेस में आगे

जयपुर: राजस्थान के अलवर से बीजेपी के सांसद बाबा बालकनाथ ने अपनी लोकसभा की सदस्यता छोड़ दी है. उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मुलाकात कर आज अपना इस्तीफा उन्हें सौंपा हैं।

तिजारा सीट से खड़े हुए थे बाबा बालकनाथ

आपको बता दें कि बीजेपी ने इस बार बाबा बालकनाथ को अलवर की तिजारा सीट से विधानसभा का चुनाव लड़ाया था और वह कांग्रेस प्रत्याशी इमरान खान को हराकर विधायक चुने गए. राजस्थान के सीएम पद की रेस में उनका नाम आगे है. इससे पहले छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्य प्रदेश में विधायकी का चुनाव जीतने वाले सभी बीजेपी सांसदों ने कल अपना इस्तीफा ओम बिरला को सौंप दिया।

साढ़े छह साल की उम्र में लिया संन्यास

महंत बालकनाथ योगी बीएमयू के चांसलर हैं और वह नाथ संप्रदाय के 8वें महंत भी हैं. महंत चांदनाथ ने 29 जुलाई 2016 को एक समारोह में बालकनाथ योगी को अपना उत्तराधिकारी घोषित किया था, जिसमें यूपी के वर्तमान सीएम योगी आदित्यनाथ और बाबा रामदेव भी शामिल हुए थे. बहरोड़ तहसील के कोहराना गांव के एक यदुवंशी हिंदू परिवार में उनका जन्म हुआ था. बाबा बालकनाथ ने साढ़े छह साल की उम्र में संन्यास लेने का फैसला किया और अपना घर त्यागकर आश्रम में चले गए थे।

यह भी पढ़े : 

The Kerala Story: अदा शर्मा ने केरला स्टोरी के आलोचकों को दिया करारा जवाब, कही ये बात

सेना की महिला अधिकारी अब चलाएगीं तोप और रॉकेट,आर्टिलरी रेजीमेंट में पहले बैच को मिला कमीशन

Latest news