June 17, 2024
  • होम
  • 'अतीक-अशरफ हत्याकांड का मास्टरमाइंड निकला सनी…,' अस्पताल में ही मारने का था प्लान

'अतीक-अशरफ हत्याकांड का मास्टरमाइंड निकला सनी…,' अस्पताल में ही मारने का था प्लान

  • WRITTEN BY: Riya Kumari
  • LAST UPDATED : April 23, 2023, 4:07 pm IST

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश में 40 सालों तक अपने माफिया राज से दबदबा बनाने वाला अतीक अहमद और उसका भाई अशरफ अहमद 15 अप्रैल को मारे गए. इस हत्याकांड में अब तक जिन तीन लोगों का नाम सामने आया है उनसे पुलिस पूछताछ कर रही है. अब तक पुलिस जांच में इन तीनों के अलावा किसी चौथे आदमी का नाम निकलकर नहीं आया है. पुलिस के अनुसार दिल्ली में गोगी गैंग के लोगों ने सनी को पिस्टल दी थी जिसके बाद सनी को दिल्ली NCR में कोर्ट में किसी गैंगस्टर को मारने का टास्क मिला था. ये टास्क पूरा नहीं हो पाया इसके बाद भी सनी के पास ही पिस्टल रही. हालांकि अब दोनों शूटर्स की रिमांड अवधि पूरी हो चुकी है जिन्हें प्रतापगढ़ लाया गया.

 

सनी निकला मास्टरमाइंड

ताजा जानकारी के अनुसार अतीक-अशरफ हत्याकांड के पीछे सनी का ही दिमाग था. अब तक की जांच के अनुसार सनी को ही इस हत्याकांड का मास्टरमाइंड बताया जा रहा है. वहीं सनी ने ही इस मास्टरप्लान में लवलेश तिवारी और अन्य को शामिल किया था. दोहरे माफिया हत्याकांड के दिन शाम 7:30 बजे सबसे पहले शूटर लवलेश तिवारी होटल से निकला था, उसके बाद अन्य दोनों शूटर निकले थे.

खबरों के जरिए तीनों अतीक और अशरफ की पल-पल की खबर रख रहे थे. अतीक और अशरफ को तीनों का अस्पताल में ही मारने का प्लान था लेकिन वह ऐसा नहीं कर पाए. इतना ही नहीं आरोपियों ने पुलिस को बताया है कि अगर वह 15 को इस हत्याकांड को अंजाम नहीं देते तो वह इसे 16 या 17 को अंजाम देते.

ख़बरों से रख रहे थे नज़र

पुलिस की पूछताछ में सामने आया है कि हत्या के दिन तीनों शूटर ई-रिक्शा से अस्पताल पहुंचे थे और इसके बाद उन्होंने मौका मिलते ही इस वारदात को अंजाम दिया. अतीक-अशरफ की CJM कोर्ट में 13 अप्रैल को हुई पेशी के दौरान भी तीनों शूटर्स कोर्ट तक पहुंच गए थे.

तीनों हत्यारोपी गिरफ्तार

इतना ही नहीं 13 अप्रैल की शाम 8:30 बजे यानी वारदात से दो दिन पहले शूटर्स ने होटल में चेक इन किया था. तीनों शूटर्स होटल में रूम नंबर- 203 में ठहरे जहां से तीनों ने रेकी की. जांच में ये सामने आया है कि तीनों शूटर्स 13 अप्रैल की शाम से ही अतीक और अशरफ के पीछे थे. उन्होंने इस बात का पता लगा लिया था कि कब पुलिस अतीक और अशरफ को लेकर मेडिकल चेकअप के लिए निकलती है और कब वापस आती है इसके बाद तीनों ने इस हत्याकांड को अंजाम दिया था. बता दें, SIT ने शूटर्स के 2 मोबाइल फोन और एक चार्जर को बरामद कर लिया था मगर, मोबाइल में कोई सिम नहीं मिला है.

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन