April 18, 2024
  • होम
  • ये हैं भारत की 27 फिल्म इंडस्ट्रीज़, भोजीवुड-टॉलीवुड समेत जानिए सभी को

ये हैं भारत की 27 फिल्म इंडस्ट्रीज़, भोजीवुड-टॉलीवुड समेत जानिए सभी को

  • WRITTEN BY: Riya Kumari
  • LAST UPDATED : July 2, 2022, 9:54 pm IST

नई दिल्ली, भारतीय सिनेमा के बारे में सोचते ही आपके मन में सबसे पहले जो तस्वीर आती होगी वो जरूर बॉलीवुड की होगी. हालांकि यह इकलौती भारतीय फिल्म इंडस्ट्री नहीं है जो भारत में मौजूद हैं. बता दें, भारत में 27 क्षेत्रीय सिनेमा भी मौजूद हैं. जिनमें आज तक कमाल की फिल्में बनी हैं. आप जरूर इस बात से परिचित होंगे की पिछले कुछ सालों में कैसे साउथ इंडस्ट्री ने बतौर क्षेत्रीय सिनेमा नाम कमाया है. आज बॉलीवुड से अधिक इसे तवज्जो मिलने लगी है. ऐसी ही कई क्षेत्रीय सिनेमा की फिल्में भी हैं जिन्होंने कम बजट होने के बाद भी बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाया है. आज हम आपको इन क्षेत्रीय सिनेमा और इनकी शानदार फिल्मों के बारे में बताने जा रहे हैं.

छत्तीसगढ़ सिनेमा यानी छॉलीवुड

छत्तीसगढ़ सिनेमा भी अहम क्षेत्रीय सिनेमा है. जहां की फिल्मों ने भी खूब नाम कमाया है. अगर इस सिनेमा की बेस्ट फिल्मों के बारे में बात करें तो “मोर छैन्हा भुइन्या” नंबर वन पर है. जहां इस फिल्म ने महज़ 20 लाख के बजट में ही 2 करोड़ की कमाई की थी. हाइएस्ट ग्रोसिंग फिल्म के तौर पर आज भी इस फिल्म को देखा जाता है.

गुजरात सिनेमा यानी गोलीवुड

गुजराती सिनेमा को गोलीवुड और ढोलीवुड का नाम दिया गया है. इस सिनेमा को लेकर भी पिछले कुछ समय में काफी उछाल देखा गया है. गुजरात फिल्म इंडस्ट्री में भी एक से बढ़कर एक बेहतरीन फिल्में हैं. अगर बेहतरीन फिल्मों की बात की जाए तो गुजरती फिल्म “चल जीवी लाइये” काफी प्रसिद्ध है. रिजनल लैंग्वेज में रिलीज हुई इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर 52 करोड़ का कलेक्शन किया है. हालांकि क्षेत्रीय भाषा की वजह से इसे पैन इंडिया रिलीज नहीं मिली थी. अब तक की यह फिल्म गोलीवुड में हाईएस्ट ग्रोसिंग फिल्म है।

 

मराठी सिनेमा यानी मॉलीवुड

फिल्म “सैराट” को अगर आपने देखा होगा तो आप इस क्षेत्रीय सिनेमा को भी समझ जाएंगे. मराठी सिनेमा वह सिनेमा है जिसे मॉलीवुड कहा जाता है. इस सिनेमा की पहचान फिल्म सैराट से की जा सकती है. महज 4 करोड़ के बजट में बनी इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस से 110 करोड़ रुपए की कमाई की थी. सैराट इतनी जोरदार हिट रही थी कि बॉलीवुड ने भी इसका रीमेक बना दिया। हालांकि बॉलीवुड रीमेक “धड़क” कुछ सफल नहीं हो पाया. इस फिल्म में मराठी गानों को भी जगह दी गई थी जो हिट भी साबित हुए. “नटसम्राट”, “लय भारी” और “कटयार कलजत घुसाली” भी मराठी सिनेमा की बेहतरीन कमाई करने वाली फिल्मों में से एक हैं.

 

बिहारवुड या भोजीवुड

यह इंडस्ट्री भी इस समय की सबसे लोकप्रिय क्षेत्रीय सिनेमा में से एक है. बिहार सिनेमा को भोजपुरी सिनेमा, भोजीवुड और बिहारवुड के नाम से जाना जाता है. इस सिनेमा की फिल्म “ससुरा बड़ा पैसे वाला” आज तक की सबसे हाईएस्ट ग्रोसिंग फिल्म है. महज 30 लाख के मेकिंग बजट वाली इस फिल्म ने 35 करोड़ की कमाई की थी. बहरहाल अब इस सिनेमा में म्यूजिक एलबम्स का बड़ा चलन है. फिल्मों की बात करें तो इस सिनेमा की अब तक 110 फिल्में बन चुकी हैं.

 

पंजाबी सिनेमा उर्फ़ पॉलीवुड

पंजाब की फिल्म इंडस्ट्री ने भी बहुत कम समय में बड़ा नाम कमाया है. इस क्षेत्रीय फिल्म इंडस्ट्री को पॉलीवुड के नाम से पहचाना जाता है. “चार साहिबजादे” फिल्म को इस इंडस्ट्री की पहचान कहा जाए तो वह कम नहीं है. यह फिल्म 20 करोड़ के बजट में बनी थी जिसने बॉक्स ऑफिस पर 70 करोड़ की कमाई की थी. फिल्म को पैन इंडिया रिलीज नहीं मिलने के बाद भी यह एक बड़ी हिट साबित हुई. इसके अलावा फिल्म “चैरी जट्टा 2”, “सौकां सौकने” और “चल मेरा पुट्ट 2” ने 57 करोड़ की कमाई कर पंजाबी सिनेमा को काफी पहचान दिलाई है.

महाराष्ट्र: पूछताछ के लिए ईडी कार्यालय पहुंचे संजय राउत, कहा- जिंदगी में कभी गलत काम नहीं किया

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो