April 22, 2024
  • होम
  • Paytm: पेटीएम करने से बचें, 42% फीसदी किराना दुकानदारों ने किया Paytm से किनारा

Paytm: पेटीएम करने से बचें, 42% फीसदी किराना दुकानदारों ने किया Paytm से किनारा

  • WRITTEN BY: Tuba Khan
  • LAST UPDATED : February 9, 2024, 1:44 pm IST

नई दिल्लीः भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर प्रतिबंध की घोषणा के बाद से पेटीएम को हर दिन नई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। एक तरफ, पेटीएम की मूल कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस के शेयर गिरे हैं, लेकिन दूसरी तरफ, स्टोर मालिक भी पेटीएम ऐप से किनारा कर रहे हैं। देशभर के किराना दुकानदार एकमत होकर अपने ग्राहकों को पेटीएम का इस्तेमाल न करने की सलाह दे रहे हैं। किराना क्लब के एक अध्ययन के अनुसार, पिछले हफ्ते पेटीएम भुगतान बैंक पर आरबीआई के प्रतिबंध के बाद, भारत में 42% किराना शाखाएं पेटीएम से दूर चली गईं और अन्य मोबाइल भुगतान ऐप का उपयोग करना शुरू कर दिया।

इस सर्वे में 5,000 किराना दुकानदारों ने हिस्सा लिया. किराना क्लब के संस्थापक और सीईओ अंशुल गुप्ता ने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों से किराना दुकानों में कुछ समस्याएं हो सकती हैं, लेकिन दुकानदार ज्यादा चिंतित नहीं हैं क्योंकि भुगतान के कई अन्य विकल्प मौजूद हैं। सर्वेक्षण के अनुसार, लगभग 20 प्रतिशत ने कहा कि वे अन्य भुगतान ऐप्स का उपयोग करना चाहते हैं। किराना क्लब के सर्वेक्षण में पाया गया कि आरबीआई की कार्रवाई के बाद 68 प्रतिशत भारतीय किराना दुकानों का पेटीएम पर से भरोसा उठ गया है।

फोनपे को हुआ सबसे अधिक फायदा

किराना क्लब के एक अध्ययन के अनुसार, 50% व्यापारी जो अन्य भुगतान ऐप का उपयोग करते हैं या उपयोग करना चाहते हैं, उन्होंने PhonePe पर स्विच कर लिया है। अब 30 प्रतिशत Google Pay स्वीकार करते हैं और 10 प्रतिशत भारतपे स्वीकार करते हैं।

31 जनवरी को लगा था प्रतिबंध

31 जनवरी को, केंद्रीय बैंक ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक (PPBL) को 1 मार्च से अपने खातों और डिजिटल वॉलेट में नई जमा स्वीकार करने पर प्रतिबंध लगा दिया था। RBI ने अपने नोटिस में कहा था कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक के खिलाफ कार्रवाई अपने ग्राहक को जानें (KYC) नियमों के व्यापक तौर पर उल्लंघन से धनशोधन (Money Laundering) की चिंता को देखते हुए की गई थी. आरबीआई ने कहा कि पीपीबीएल के खिलाफ कार्रवाई व्यापक सिस्टम ऑडिट रिपोर्ट और बाहरी ऑडिटरों द्वारा बाद की रिपोर्ट की मंजूरी के बाद की गई थी।

यह भी पढ़ें- http://Bharat Ratna: चौधरी चरण सिंह और नरसिंहा राव और स्वामीनाथन को भारत रत्न, PM मोदी ने ट्वीट कर दी जानकारी

 

 

 

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो