March 1, 2024
  • होम
  • Amritpal singh: अमृतपाल की गिरफ्तारी पर पंजाब पुलिस की प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू, जानिए क्या बोले IGP

Amritpal singh: अमृतपाल की गिरफ्तारी पर पंजाब पुलिस की प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू, जानिए क्या बोले IGP

  • WRITTEN BY: Vikas Rana
  • LAST UPDATED : April 23, 2023, 10:45 am IST

चंडीगढ़। खालिस्तानी समर्थक अमृतपाल सिंह ने पंजाब पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है। बता दें, पूरे 36 दिन बाद खालिस्तानी समर्थक अमृतपाल ने पंजाब की मोगा पुलिस के सामने आज सरेंडर किया है। जानकारी के अनुसार अमृतपाल सिंह को मोगा जिले के रोडे गांव से गिरफ्तार किया गया है। बता दें, रोडे गांव का खालिस्तानी नेता जरनैल सिंह भिंडरावाले का पैतृक गांव है। अमृतपाल पिछले एक महीने से पुलिस को चकमा दे रहा था। इस बीच पंजाब पुलिस के आईजी सुखचैन सिंह गिल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए अमृतपाल की गिरफ्तारी को लेकर सारी जानकारी दी है।

क्या बोले IGP सुखचैन सिंह गिल

IGP सुखचैन सिंह गिल ने बताया कि, हमें अमृतपाल के रोडे गांव के गुरुद्वारे में मौजूद होने की जानकारी मिली थी। जिसके बाद हमने गुरुद्वारा साहिब की मर्यादा को रखते हुए अमृतपाल को गिरफ्तार किया है। अमृतपाल की गिरफ्तारी के बाद उसे असम की डिब्रूगढ़ जेल के लिए रवाना कर दिया गया है।

आईजीपी ने कहा कि अमृतपाल सिंह के खिलाफ NSA के तहत वारंट जारी हुए थे। जिसके तहत उसकी गिरफ्तारी की गई है। इस पूरे ऑपरेशन के दौरान पंजाब के लोगों ने शांति, कानून व्यवस्था बनाई रखी, जिसके लिए हम उनका धन्यवाद करते हैं। हमने ऑपरेशन चलाकर सुबह 6 बजकर 45 मिनट पर अमृतपाल गिरफ्तार किया था। फिलहाल पंजाब में कानून व्यवस्था, सांप्रदायिक सौहार्द्र बना हुआ है और किसी भी तरह की अप्रिया घटना की कोई आशंका नहीं है।

अमृतपाल को लेकर पंजाब पुलिस डिब्रगूढ़ जेल हुई रवाना

बता दें, अमृतपाल के समर्पण करने के बाद उसे कड़ी सुरक्षा के बीच बठिंडा एयरबेस से डिब्रगूढ़ जेल ले जाया जा रहा है। बताया जा रहा है, डिब्रगूढ़ जेल में पंजाब पुलिस के अलावा IB और NIA अमृतपाल से पूछताछ कर सकती है। बता दें, पंजाब पुलिस ने पहले ही अमृतपाल सिंह के खिलाफ सख्त राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लगा चुकी है।

इसके अलावा पहले ही अमृतपाल सिंह के कई सहयोगियों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। अमृतपाल सिंह पंजाब पुलिस समेत सभी सुरक्षा एजेंसियों को करीब एक महीने से चकमा दे रहा था। वो केवल सीसीटीवी फुटेज में नजर आ रहा था। कई प्रदेशों में सर्च अभियान होने के बाद भी पुलिस उसे पकड़ नहीं पाई थी।

18 मार्च को हुआ था फरार

अमृतपाल सिंह के खिलाफ सबसे पहले कार्रवाई 18 मार्च को मोगा के सीमावर्ती इलाके कमालके पर हुई थी। जहां से वह फरार हो गया था। जिसके बाद वह लगातार अपने ठिकाने बदल रहा था। अमृतपाल को ढूंढने में पंजाब पुलिस के 80 हजार जवानों के अलावा तमाम अधिकारी, काउंटर इंटेलिजेंस और खुफिया एजेंसी के अधिकारी बुरी तरह से विफल हुई। उसकी तलाश नौ से ज्यादा राज्यों में की गई।

Tags