तेहरानः महिलाओं की आजादी और उनके अधिकारों की खराब हालात को बयां करने वाली खबर ईरान से आई है. जहां एक महिला को सिर से दुपट्टा उतारने के जुर्म में दो साल की सजा सुनाई गई है. इरान में कोर्ट के इस अजीबोगरीब फैसले के बाद वहां महिलाओं की आजादी और खराब स्थिती का अंदाजा लगाया जा सकता है. ईरान में महिलाओं पर तमाम तरह की पाबंदियां लगी हैं जिसकी ये सिर्फ एक झलक भर है.

अंग्रेजी अखबार खलीज टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक, ईरान में कोर्ट ने एक महिला को 2 साल की सजा सजा सुनाई है जिसने सार्वजनिक विरोध के तौर पर अपने सर से अपना दुपट्टा हटा दिया था. जिसको ईरान में कानून का उल्लंघन माना गया और महिला पर केस चला जिसके बाद उसको सजा दी गई.

कोर्ट रुम में जज ने महिला को दो साल की सजा सुनाई और सजा के शुरुआती तीन महीने तक महीला को पेरोल नहीं मिलेगी. ईरान में महिलाओं के लिए नियम कानून काफी सख्त हैं जिसके तहत वहां प्रत्येक स्त्री को अपने सिर पर दुपट्टा रखना अनिवार्य होता है. कोर्ट में तेहरान के मुख्य अभियोजक अब्बास जाफारी दौलताबादी ने महिला को सजा सुनाए जाने की घोषणा की. कोर्ट में महिला की पहचा सार्वजनिक नहीं की गई लेकिन कोर्ट में ये भी कहा गया है कि अगर महिला चाहे तो इस फैसले के खिलाफ अपील भी कर सकती है. 

यूपी की इस मस्जिद में सिर्फ मुस्लिम महिलाएं अदा करती हैं नमाज

पोर्न देखने की ऐसी सजा किसी मुल्क में नहीं मिली होगी जैसी

दुनियाभर के देशों में सेक्स से जुड़े 25 अजीबोगरीब कानून जानकर हैरान रह जाएंगे आप

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App