बगदाद. इराकी मलेशिया ने दावा किया है कि बगदाद हवाई अड्डे पर अमेरिका ने एयर स्ट्राइक किया है. इस एयर स्ट्राइक में इलाइट कुड्स फोर्स के हेड ईरानी मेजर जनरल कासिम सुलेमानी, इराकी मिलिशिया कमांडर अबू महदी अल-मुहांडिस मारे गए हैं. एएफपी के अनुसार पेंटागन ने कहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जनरल कासिम सुलेमानी को मारने का आदेश दिया था. यहां हम आपको बता रहे हैं कि अमेरिकी एयर स्ट्राइक में मरने वाला जनरल कासिम सुलेमानी आखिर कौन था.

जनरल कासिम सुलेमानी का जन्म 11 मार्च 1957 में इरान में हुआ था. सुलेमानी कारमन से फारसी थे और उनके पिता एक किसान थे जिनका 2017 में निधन हो गया था. उनकी मां फतेमी की साल 2013 में मृत्यु हो गई. सुलेमानी की पांच बहनें और एक भाई सोहराब है. सुलेमानी साल 1979 में ईरानी क्रांति के बाद रिवोल्यूशनरी वॉर गार्ड (IRGC) में शामिल हो गए, जिसमें उन्होंने शाह को गिरते देखा और अयातुल्ला खुमैनी ने सत्ता संभाली. एक गार्डमैन के रूप में अपने करियर की शुरुआत में वह उत्तर-पश्चिमी ईरान में तैनात थे और उन्होंने पश्चिमी अज़रबैजान प्रांत में कुर्द अलगाववादी विद्रोह के दमन में भाग लिया.

22 सितंबर 1980 को जब सद्दाम हुसैन ने ईरान पर आक्रमण शुरू किया तब सुलेमानी एक मिलिट्री कंपनी के लीडर के रूप में युद्ध के मैदान में शामिल हुए. जिसमें करमान के लोग भी शामिल थे. इसके बाद वह 41 वें सरला डिवीजन के कमांडर बन गए.

62 साल के जनरल कासिम सुलेमानी न केवल ईरान में बल्कि सीरिया, लेबनान और इराक के सबसे प्रभावशाली लोगों में से एक थे. सुलेमानी तब से बगदाद में है जब हाल ही में पिछले महीने पार्टियों ने नई सरकार बनाने की मांग की थी. सुलेमानी को एक बार ऑर्डर ऑफ जोलफाघर और तीन बार ऑर्डर ऑफ फेथ से भी नवाजा जा चुका है. 

ये भी पढ़ें

Iran Qasem Soleimani Killed In US Air Strike: बगदाद एयरपोर्ट पर एयर स्ट्राइक में मारे गए ईरानी सेना के टॉप कमांडर कासिम सुलेमानी समेत 8 लोग, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के निर्देश पर कार्रवाई के बाद विवाद

26/11 Mumbai Attacks: मुंबई 26/11 हमले के 11 साल, देश की आर्थिक राजधानी पर हुए सबसे बड़े आतंकी हमले के आज भी जख्म ताजा