कोलंबो. श्रीलंका में रविवार को हुए बम धमाकों को लेकर एक नई जानकारी सामने आई है. न्यूज एजेंसी एएफपी के अनुसार श्रीलंका के पुलिस प्रमुख ने कोलंबो में हुए बम धमाकों से 10 दिन पहले देश भर में अलर्ट किया था कि कुछ लोग शहर के प्रमुख चर्चों में बम धमाकों की योजना बना रहे हैं. श्रीलंकाई पुलिस प्रमुख पुजुत जयसुंदरा ने 11 अप्रैल को ही इस मामले में अधिकारियों को इस घटना से पहले ही जानकारी दी थी.

एक विदेशी खुफिया एजेंसी ने बताया है कि NTJ (नेशनल थोहेथ जमात) कोलंबो में प्रमुख चर्चों को निशाना बनाकर आत्मघाती हमले करने की योजना बना रहा है. जिसमें वह भारतीय दूतावास को भी निशान बना रहा था. बता दें कि NTJ श्रीलंका में एक कट्टरपंथी मुस्लिम समूह है जो पिछले साल तब सामने आया था जब इसे बौद्ध प्रतिमाओं के विध्वंस से जोड़ा गया था. हालांकि इस ग्रुप पर अभी शक ही जा रहा है लेकिन किसी भी तरह की कोई ठोस जानकारी सामने नहीं आई है.

श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में रविवार 22 अप्रैल का दिन बेहद काला दिन साबित हो गया है अब तक शहर में 8 बम धमाके हो गए हैं. जिसमें 160 लोगों की मौत और 400 से अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं.

सबसे पहले धमाके में ईस्टर मास के दौरान श्रीलंका के कोचिकेड, सेंट सेबेस्टियन और बैटिकलोआ चर्चों में प्रार्थना करने पहुंचे लोगों को निशाना बनाया गया था.  जानकारी के अनुसार अब तक इसमें 35 विदेशी समेत 160 लोगों की मौत हो चुकी है. जहां एक विस्फोट कोलंबो के कोच्चीकेड के सेंट एंथनी चर्च में हुआ और दूसरा धमाका नेगोम्‍बो कतुवापिटिया सेंट सबास्टियन चर्च में हुआ है. वहीं कोलंबो के किंग्‍सबरी होटल, शांगरीला होटल और बट्टिकलोवा में बम धमाके हुए हैं.

इन धमाकों के बाद पुलिस प्रशासन और श्रीलंकाई सरकार ने हेल्पलाइन नंबर्स भी जारी किए हैं. ये धमाके इतने जोर के थे आस-पास रहने वाले लोग भी इसके अवाज से खौफ में आ गए थे. चर्च में से घायलों को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है जहां उनका इलाज चल रहा है. इन धमाकों को लेकर अभी किसी आतंकी संगठन ने भी जिम्मेदारी नहीं ली है.

Blasts in Sri Lanka Churches: श्रीलंका में आठवां बम धमाका, अब तक 35 विदेशी नागरिकों समेत 160 लोगों की मौत

Sri Lanka Bomb Blast Timeline: खूनी रहा है श्रीलंका का इतिहास, जानें कब-कब हुए बम धमाके

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर