वॉशिंगटनः अमेरिका ने ईरान पर लगाए गए प्रतिबंधों को अब लागू कर दिया है. ये प्रतिबंध मई 2015 में हुए परमाणु समझौते को तोड़ने के बाद ट्रंप की सरकार द्वारा लगाया गया था जिसे सोमवार को लागू कर दिया गया. इन प्रतिबंधों को अब तक ईरान पर लगे सबसे कड़े प्रतिबंधों में गिना जा रहा है जिसमें ईरान के पेट्रोलियम पदार्थों और बैंकिंग सेक्टर को प्रतिबंधित किया गया है. हालांकि ये प्रतिबंध भारत और चीन सहित कुल 8 देशों में नहीं लागू होंगे और भारत आराम से ईरान से पेट्रोलियम पदार्थ खरीद सकता है.

भारत और चीन के अलावा जापान, इटली, ग्रीस, दक्षिण कोरिया, ताईवान और टर्की ऐसे देश हैं जिन्हें इन प्रतिबंधों से मुक्ति दी गई है. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने यह जानकारी दी. हालांकि भारत पर इन प्रतिबंधों का पालन करने की कोई पाबंदी नहीं है लेकिन इस प्रतिबंध से भारत के पेट्रोलियम पदार्थों के दामों में फिर से आग लग सकती है. ऐसा इसलिए है क्योंकि भले ही भारत इससे बच गया हो लेकिन इन प्रतिबंधों से कच्चे तेल के दामों में वृद्धि हो सकती है जिसका प्रभाव भारतीय तेल बाजार पर भी पड़ेगा. आपको बता दें कि भारत पेट्रोलियम पदार्थों के आयात का 18 प्रतिशत ईरान से खरीदता है.

इन प्रतिबंधों को लागू करते हुए अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि यह ईरान पर अब तक लगाए गए प्रतिबंधों में सबसे कड़े हैं. वहीं ईरान के राष्ट्रपति हुसैन रूहानी ने कहा कि उनके ऊपर इन प्रतिबंधों का कोई खास प्रभाव नहीं पड़ेगा. उन्होंने कहा कि अमेरिका अपने मंसूबों में कभी नहीं सफल हो सकेगा और उसे जल्द ही अपनी दादागिरी छोड़नी होगी.

US MidTerm Elections 2018: अमेरिका में मध्यावधि चुनाव आज, राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रंप की साख दांव पर

Petrol, Diesel Prices Today: तेल के दामों में फिर गिरावट, 78.56 रुपये पर पेट्रोल तो 73.18 पर डीजल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App