नई दिल्लीः अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इन दिनों दुनिया के सबसे मशहूर सर्च इंजन गूगल से खासे नाराज चल रहे हैं और जिसके चलते उन्होंने मंगलवार को गूगल को खूब खरी खोटी सुनाई और गूगल को रेग्युलेट करने की बात कही. ट्रंप ने गूगल पर उनकी गलत छवि बनाने का आरोप लगाया और कहा कि जब से उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति का पद संभाला है मीडिया मेरे खिलाफ ही खबरे चला रहा है. उन्होंने कहा कि गूगल पर वे ही समाचार प्रकाशित किए जाते हैं जो उनकी छवि को नुकसान पहुंचाने का काम करता है. उन्होंने इस सब के लिए गूगल को जिम्मेदार ठहराया है. जिसको देखते हुए लग रहा है कि डोनाल्ड ट्रंप गूगल के खिलाफ कोई बड़ी कार्रवाई कर सकते हैं.

डोनाल्ड ट्रंप का आरोप है कि मीडिया द्वारा उनके खिलाफ चलाई जा रही खबरों में गूगल भी उनके खिलाफ नेगेटिव खबरें सर्च होने में अहम भूमिका निभा रहा है तो काफी खतरनाक है. ये पहला मौका नहीं है जब ट्रंप ने मीडिया को निशाने पर लिया हो इससे पहले ट्रंप ने सीएनएन को आड़े हाथों लिया था लेकिन इस बार ट्रंप का निशाना कोई मीडिया हाउस नहीं बल्कि दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन गूगल है. अमेरिका की एक न्यूज वेबसाइट यूएसए टुडे में प्रकाशित हुई एक खबर के मुताबिक, अगर आप गूगल पर ईडियट (Idiot) लिखेंगे तो सबसे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की तस्वीर सामने आएगी. इस खबर को लेकर अमेरिका में काफी हंगामा हुआ था जिसके बाद से गूगल ट्रंप के निशाने पर आ गया.

मंगलवार को डोनाल्ड ट्रंप ने अपने ट्वीटर पर गूगल के खिलाफ जमकर भड़ास निकालते हुए कहा, डोनाल्ड ट्रंप की खबर को गूगल में सर्च करने पर सिर्फ नकारात्मक खबरे ही दिखती हैं. ये फेक न्यूज मीडिया है. उन्होने लिखा, दूसरे शब्दों में कहूं तो इस कंपनी (गूगल) ने मेरे और अन्य लोगों के खिलाफ गड़बड़ी की है जिसमें ज्यादातर खबरें नेगेटिव हैं. उन्होंने अंग्रेजी समाचार चैनल सीएनएन पर निशाना साधते हुए लिखा, इसमें नकली सीएनएन सबसे प्रमुख है.

डोनाल्ड ट्रंप ने एक दूसरा ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा, 96 फीसदी से ज्यादा डोनाल्ड ट्रंप की खबर का सर्च रिजल्ट सिर्फ नेशनल वामपंथी मीडिया की तरफ से आता है जो बहुत खतरनाक है. उन्होंने कहा, गूगल और अन्य कंपनियां कंजरवेटिव की आवाज को दबा रही हैं. ये लोग सूचनाओं और खबरों को छिपा रहे हैं. लेकिन ये अच्छी बात है कि ये लोग जिन चीजों को अपने नियंत्रण में कर रहे हैं उसे हम भी देख सकते हैं और नहीं भी, और ये बात काफी गंभीर है जिस पर ध्यान दिया जाएगा.

ट्रंप के इस हमले के बाद गूगल के प्रवक्ता ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया. उन्होंने कहा कि सर्च का उपयोग किसी भी राजनीतिक एजेंडे को साधने के लिए नहीं किया जाता.

आतंकवादियों पर एक्शन वाले बयान पर भिड़ा डोनाल्ड ट्रंप के अमेरिका और इमरान खान के पाकिस्तान का विदेश मंत्रालय

VIDEO: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के विरोध में लोगों ने सड़क पर कुचल डाले एप्पल आईफोन

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App