वॉशिंगटन. यूएस सरकार का आंशिक रूप से हड़ताल पर जाना अब लगभग तय हो गया है. शुक्रवार को यूएस-मेक्सिको बॉर्डर वॉल की फंडिंग पर डेमोक्रेट्स और डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन के बीच सहमति नहीं बन पाई. जिसके बाद अमेरिका में लंबे शटडाउन की तलवार लटक गई है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि अगर कांग्रेस से धन की मंजूरी नहीं मिलती है तो सरकारी शटडाउन के लिए डेमोक्रेट सांसद जिम्मेदार होंगे. इस शटडाउन से कई अहम एजेंसियों का काम प्रभावित हो सकता है. ट्रंप ने शुक्रवार को ट्वीट किया था कि अगर डेमोक्रेट्स ने बॉर्डर सिक्योरिटी के लिए वोट नहीं किया तो आज सरकार काम नहीं करेगी.

बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मांग है कि कांग्रेस मैक्सिको की सीमा पर दीवार बनाने के लिए 5.7 अरब डॉलर (करीब 40 हजार करोड़ रु.) की फंडिंग मुहैया कराए. यूएस राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा है कि अगर ऐसा नहीं होता है तो वे बजट (गवर्मेंट स्पेंडिंग बिल) पर हस्ताक्षर नहीं करेंगे. जिस कारण सरकार के कई विभाग हड़ताल पर जा सकते हैं.

कुछ समय पहले यूएस राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि सरकार का कामकाज ठप करा कर उन्हें गर्व का अनुभव होगा. इसे रिपब्लिकन अब सीमा सुरक्षा का नाम दे रहे हैं. उन्होंने कहा था कि मैं इसे बंद करूंगा, लेकिन आधिरात की समयसीमा के कई घंटे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चर्चा को एक नया रूप दिया और डेमोक्रेटिक सांसदों को गतिरोध को समाप्त करने के विरोध वाला दिखाने की कोशिश की.

डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर लिखा सांसद मिच मैकलन को दीवार और सीमा सुरक्षा के लिए उसी प्रकार से लड़ना चाहिए जैसा कि उन्होंने अन्य चीजों के लिए लड़ाई की है. उन्हें डेमोक्रेट्स के वोट चाहिए होंगे, लेकिन जैसा सदन में दिखा, अच्छी चीजें होती हैं. अगर पर्याप्त संख्या में डेमोक्रेट्स वोट नहीं देते तो यह डेमोक्रेट कामकाज ठप होगा.

TRAI Notification DTH Cable Operators: टीवी देखना अगले साल से हो जाएगा महंगा, TRAI ने ग्राहकों के लिए जारी की नई सूचना
US Suspends Pakistans Security Aid: अमेरिका ने दिया पाकिस्तान को झटका, डोनाल्ड ट्रंप ने बंद की 1.66 बिलियन डॉलर की सुरक्षा मदद

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App