नई दिल्ली। चीन में कोरोना के मामलों में कमी के बावजूद सरकार की ओर से सख्ती दिखाने की बात सामने आई है. चीन में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 7,822 नए मामले मिले हैं, जिसमें 865 मामले संक्रमित लोगों के हैं जबकि 6,957 मामले बिना लक्षण वाले हैं. इस दौरान 32 लोगों की जान चली गई है और सभी मौतें शंघाई में दर्ज की गई हैं. वहां के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के मुताबिक एक दिन पहले चीन में 8,329 कोरोना के मामले सामने आए थे. वहीं शंघाई में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए सरकार ने सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. अब चीन में कोरोना के कुल सक्रिय मामले भी बढ़कर 2,17,452 हो गए हैं.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार ओमिक्रॉन वेरिएंट के मामलों में वृद्धि के कारण बीजिंग में कोरोना प्रतिबंध बढ़ा दिए गए हैं. बीजिंग में सभी रेस्तरां भोजन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, यूनिवर्सल स्टूडियो को बंद कर दिया गया है और लोगों को एक COVID परीक्षण का प्रमाण देने का आदेश दिया गया है. सीएनएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस के मौके पर शनिवार को शहर में पांच दिन की छुट्टी के तौर पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि सामूहिक परीक्षण के कई दौर, दर्जनों आवासीय स्थानों और स्कूलों को बंद करने जैसे कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं.

स्थानीय मीडिया के अनुसार, बीजिंग में कोरोना के मामले खतरनाक दर से बढ़ रहे हैं. यहां रविवार को 51 कोरोना मामलों की पुष्टि हुई. एक रिपोर्ट में कहा गया है कि कई स्थानीय सरकारों ने लोगों को अपने शहर नहीं छोड़ने का आदेश दिया है जब तक कि बहुत जरूरी न हो.

चीन के पूर्वी वित्तीय केंद्र शंघाई में 32 नई मौतों की सूचना के साथ, सरकार ने वहां और अधिक सख्ती अपनाई है. स्थानीय सरकार के अनुसार, पिछले 24 घंटों में शहर में 6,606 नए स्थानीय बिना लक्षण वाले कोरोना के मामले दर्ज किए गए हैं.इसके चलते सरकार ने वहां कई नए प्रतिबंध लगाए हैं.

यह भी पढ़े:

गुरुग्राम के मानेसर में भीषण आग, मौके पर दमकल की 35 गाड़ियां

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर