स्टॉकहोम. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच दिनों की विदेश यात्रा पर हैं. उनका पहला पड़ाव स्वीडन है जहां उन्होंने प्रधानमंत्री स्टीफन लॉवेन से मुलाकात की. इस मौके पर उन्होंने कहा कि ये उनकी पहली स्वीडन यात्रा है जबकि भारतीय प्रधानमंत्री का 30 सालों बाद का दौरा है. उन्होंने कहा कि मेक इन इंडिया कार्यक्रम में स्वीडन एक मजबूत सहयोगी है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके स्वीडिश समकक्षीय स्टीफन लॉवेन ने राजधानी स्टॉकहोम में साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि साल 2016 में मुंबई में हुई समिट में स्वीडिश पीएम ने एक बड़े दल का नेतृत्व किया था. तो वहीं स्टीफन लॉवेन ने कहा कि विकास, खुशहाली और नवाचार को लेकर भारत सरकार के फोकस की हम तारीफ करते हैं.

इससे पहले स्वीडन पहुंचने पर स्वीडिश प्रधानमंत्री स्टेफान लोफवेन ने प्रोटोकॉल तोड़कर एयरपोर्ट पर पीएम मोदी की अगुवाई की. 16 से 20 अप्रैल तक पीएम मोदी विदेश यात्रा पर होंगे और स्‍वीडन उनका पहला पड़ाव है. इसके बाद पीएम मोदी ब्रिटेन और जर्मनी जाएंगे.

लगभग 3 दशक के बाद स्वीडन जाने वाले पीएम मोदी पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं. पीएम मोदी ने मंगलवार को स्टॉकहोम में कई मुद्दों पर बात की. स्वीडन के बाद पीएम मोदी लंदन के लिए रवाना हो जाएंगे. लंदन में मोदी कॉमनवेल्थ हेड्स ऑफ गवर्नमेंट मीटिंग (सीएचओजीएम) में हिस्सा लेंगे. बता दें कि 52 देशों के प्रतिनिधियों में से वह एकमात्र राष्ट्र प्रमुख हैं, जिन्हें द्विपक्षीय बातचीत का न्यौता दिया गया है.

अधिकारियों के मुताबिक 10 डाउनिंग स्ट्रीट में मोदी और और ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे आतंकवाद, वीजा और प्रवासियों के मुद्दे पर चर्चा करेंगे. इसके बाद दोनों नेता लंदन के साइंस म्यूजियम जाएंगे. यात्रा के दौरान पीएम मोदी द्विपक्षीय बैठकों के अलावा भारत तथा नॉर्डिक देशों (नार्वे, फिनलैंड, आईलैंड, डेनमार्क) के शिखर सम्मेलन और राष्ट्रमंडल देशों के प्रमुखों की बैठक को संबोधित करेंगे. जबकि ब्रिटेन से 20 अप्रैल को स्वदेश लौटते हुए जर्मनी की राजधानी बर्लिन भी रुकेंगे. जहां उनकी जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल से भेंट करेंगे.

स्वीडन के स्टॉकहोम पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी, स्वीडिश पीएम स्टेफान लोफवेन ने खुद की अगुवाई

कैश की किल्लत पर TMC सांसद डेरेक ओ ब्रायन का मोदी सरकार पर हमला, बोले- ये आर्थिक आपातकाल है

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App