देशभर में कोरोना का प्रकोप दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है। हर जगह हालत बिगड़ते जा रहे है। अस्पतालों में बेड्स की कमी होती जा रही है, ऑक्सीजन खत्म होती जा रही है। छोटे से छोटा और बड़े से बड़ा सभी अस्पतालों की हालत एक जैसी हो गई है। डॉक्टर्स ऑक्सीजन को लेकर पैनिक में है। कोरोना की दूसरी लहर में 80% मरीज ऑक्सीजन सपोर्टर ही है। डॉक्टर्स का कहना है कि यदि ऑक्सीजन टैंक में रेड लाइट जलने लगे, हालत बिगड़ने लगे, तो हम क्या करेंगे।

कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए ब्रिटेन ने नई ट्रैवल गाइडलाइंस जारी की है। नई गाइडलाइंस के तहत  शुक्रवार सुबह 8.30 बजे से ही भारत को उसने अपने रेड लिस्ट में डाल दिया है, यानी शुक्रवार सुबह 8.30 बजे के बाद भारत का कोई भी विमान ब्रिटेन में लैंड नहीं कर सकता। हालांकि, इस गाइडलाइन के प्रभावी होने से करीब 24 घंटे पहले ही भारत के कुछ अरबपतियों ने अपना नया ठिकाना लंदन बना लिया। इन प्राइवेट जेट से भारत के वो अरबपति ब्रिटेन जा पहुंचे, जिन्हें मौजूदा हालात में भारत में स्वास्थ्य सेवाओं की खस्ता हालत देखकर डर लग रहा था। वहां ऑक्सीजन की कमी नहीं हैं।

वेबसाइट फ्लाइट अवेयर के अनुसार ब्रिटेन में नई ट्रैवल गाइडलाइंस लागू होने से पहले 24 घंटों के अंदर कुल 8 प्राइवेट जेट लंदनन के ल्यूटन एयरपोर्ट पहुंचे। भारत से एक के बाद एक 8 प्राइवेज जेट उड़े और समय से पहले ही ब्रिटेन में लैंड कर गए। इनमें से 4 जेट मुंबई से उड़े थे, 3 दिल्ली से और एक अहमदाबाद से। एक अन्य जेट गुरुवार रात को उड़ा था और शुक्रवार सुबह महज 40 मिनट पहले लैंड हुआ।

बताया जा रहा है कि हर प्राइवेट जेट के लिए करीब 72000 पाउंड खर्च किए गए हैं यानी 72 लाख रुपये। जिन भारतीयों के पास अथाह दौलत नहीं है, वह तो पिछले हफ्ते फ्लाइट में सीट के लिए परेशान होते रहे। स्टूडेंट समेत कुछ ट्रैवलर्स ब्रिटेन जाना चाह रहे थे, जिनके लिए कुछ अतिरिक्त फ्लाइट की व्यवस्था के लिए भी कहा गया था।

Ashoka Hotel Covid Centre : दिल्ली हाईकोर्ट के जजों और अफसरों के लिए दिल्ली सरकार ने अशोका होटल में 100 कमरे बुक कर बनाया कोविड सेंटर

Corona Oxygen Immunity : कोरोना से बचने और अपना इम्यून सिस्टम बढ़ाने के लिए करें यह एक्सर्साइज