खारतूम. सूडान में एक फैक्ट्री में विस्फोट होने से 18 भारतीयों की मौत हो गई है. सूडान की राजधानी खारतूम के बहरी में बुधवार को सीला सिरेमिक फैक्ट्री में एलपीजी टैंकर में ब्लास्ट हो गया जिसमें कुल 23 लोगों की मौत हो गई और 130 लोग घायल हो गए. मृतकों में 18 लोग भारतीय हैं. सूडान के भारतीय दूतावास ने यह जानकारी दी है. इसके अलावा करीब 16 लोगों का अभी तक पता नहीं चल पाया है. 

भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट कर इस घटना की जानकारी दी है. उन्होंने लिखा है कि सूडान की इस फैक्ट्री में काम करने वाले कई भारतीय मजदूरों की मौत हुई है जबकि कुछ लोग घायल बताए जा रहे हैं.

सूडान में स्थित भारतीय दूतावास ने विस्तृत नोट जारी किया है. जिसमें घायलों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई है. दूतावास ने एक इमरजेंसी नंबर +249-921917471 भी जारी किया है.

यहां पढ़ें Sudan Factory Fire Blast Highlights:

Live Blog

18:24 (IST)

तीन भारतीयों की हालत गंभीर

भारतीय दूतावास के मुताबिक सूडान की सिरेमिक फैक्ट्री में लगी आग में घायल हुए 7 भारतीयों को खारतूम के अल अमल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. इनमें से तीन लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है, जिनका आईसीयू में इलाज चल रहा है. इन तीनों के नाम- रविंद्र सिंह (राजस्थान), नीरज कुमार (बिहार), जयकुमार (तमिलनाडु) है.

18:19 (IST)

सूडान फैक्ट्री हादसे की पल-पल की जानकारी देते रहेंगे- विदेश मंत्री एस जयशंकर

भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट कर सूडान हादसे के लिए इमरजेंसी हेल्पलाइन नंबर +249-921917471 जारी किया है. खारतूम की सीला सिरेमिक फैक्ट्री में काम करने वाले भारतीय लोगों के परिवार वाले इस नंबर पर कॉल कर जानकारी ले सकते हैं. सूडान में स्थित भारतीय दूतावास मृतकों के परिजनों से संपर्क साधने की कोशिश कर रहा है.

18:16 (IST)

भारतीय दूतावास ने जारी की फैक्ट्री में काम करने वाले मजदूरों की लिस्ट

सूडान हादसे में मरने वाले भारतीय मजदूरों में अधिकतर की पहचान की जा चुकी है. भारतीय दूतावास ने फैक्ट्री में काम करने वाले मजदूरों की पहचान की है और उनके नाम की लिस्ट जारी की है. साथ ही इस हादसे में करीब 34 लोगों को सुरक्षित बचाया गया है, उनके नाम भी नीचे दी गई लिस्ट में है.