कोलंबो. रविवार सुबह इस्लामिक आतंकवादियों ने ईस्टर के मौके पर श्रीलंका के ईसाइयों को निशाना बनाया. जहरान हाशिम और अबू मोहम्मद ने सिलसिलेवार बम धमाके करके कम से कम 140 लोगों को मार डाला और 560 से अधिक अन्य को घायल कर दिया. ये संख्या तेजी से बढ़ रही है. आतंक के इस कृत्य की अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर निंदा हो रही है.

श्रीलंका चर्च आत्मघाती हमलावर जहरान हाशिम क्रिकेटर सनथ जयसूर्या का प्रशंसक था. वो इस बात से परेशान था कि 2007 में सनथ जयसूर्या के प्रयास के बावजूद श्रीलंका ईसाई देश ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विश्व कप हार गया था. जबकि अन्य आत्मघाती हमलावर अबू मोहम्मद को विश्व कप फाइनल के लिए टिकट नहीं मिला था.

शांगरी ला होटल पर हमले को आत्मघाती हमलावर जहरान हाशिम ने अंजाम दिया. वहीं अबू मोहम्मद की पहचान बैटलिकलोआ चर्च के हमलावर के रूप में की गई है. रविवार को कुल आठ बम धमाके हुए. इनमें राजधानी कोलंबो के शांगरी-ला होटल और किंग्सबरी होटल में विस्फोट हुआ. वहीं कई धमाके श्रीलंका की राजधानी कोलंबो के चर्च में हुए. ये विस्फोट ईस्टर सेवाओं की पूजा के दौरान हुए. कोलंबो के पास देहीवाला शहर में भी बम धमाके हुए.

इंटेल के सूत्रों के मुताबिक, हाशिम 4 अप्रैल को कोलंबो में भारतीय उच्चायोग पर हमला करना चाहता था. श्रीलंका में कुल आठ बम धमाके हुए हैं. घायलों और मरने वालों का आंकड़ा तेजी से बढ़ता जा रहा है. अभी तक आए आंकड़ों के मुताबिक 140 लोग मारे गए हैं और 560 लोग घोयल हो गए हैं. ये आंकड़ा अभी और बढ़ने की संभावना जताई जा रही है. सिर्फ ईसाई ही नहीं बल्कि दुनिया भर के लोग और धर्मों को छोड़कर दुख और गुस्से को व्यक्त करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया.

Sri Lanka Bomb Blast Timeline: खूनी रहा है श्रीलंका का इतिहास, जानें कब-कब हुए बम धमाके

Blasts in Sri Lanka Churches: श्रीलंका में आठवां बम धमाका, अब तक 35 विदेशी नागरिकों समेत 160 लोगों की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App