केपटाउन: भ्रष्टाचार के आरोपों से धिरे दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब ज़ुमा ने अपने पद से इस्तिफा दे दिया है. दक्षिण अफ्रीका की सत्तारूढ़ पार्टी अफ्रीकन नेशनल कांग्रेस (एएनसी) ने राष्ट्रपति ज़ुमा को इस्तीफा देने का आदेश दिया था. बीते दिन दक्षिण अफ्रीकी पुलिस ने बुधवार को राष्ट्रपति जैकब ज़ुमा के करीबी भारतीय मूल के कारोबारी गुप्ता बंधुओं के घर पर छापेमारी की थी. गुप्ता बंधुओं पर राष्ट्रपति जैकब ज़ुमा के कार्यकाल के दौरान हुए कथित घोटाले में अहम भूमिका निभाने का आरोप है.

दरअसल भ्रष्टाचार के आरोपों से धिरे राष्ट्रपति जैकब ज़ुमा पर 2017 के दिंसबर माह में अफ्रीकन नेशनल कांग्रेस (ANC) के प्रमुख के रूप में जुमा की जगह उनके उप नेता सिरिल रामफोसा को चुने जाने के बाद से ही पद छोड़ने का दबाव बढ़ रहा था. भ्रष्टाचार के आरोपों ने जुमा की छवि को काफी नुकसान पहुंचाया और उनके समर्थक आधार को भी कम किया. जैकब ज़ुमा के राष्ट्रपति पद का कार्यकाल 2019 में खत्म होना था लेकिन उनकी पार्टी द्वारा दिए गए दबाव के चलते आखिरकार उन्हें अपने पद से इस्तिफा देना पड़ा.

बता दें कि बीते दिन साउथ की सत्तारूढ़ एएनसी पार्टी ने मैराथन वार्ता करते हुए घोटाले के आरोपों में घिरे राष्ट्रपति जैकब जुमा को राष्ट्राध्यक्ष के पद से हटाने का फैसला किया था. एएनसी पार्टी की 107 सदस्यीय राष्ट्रीय कार्यकारी समिति ने 13 घंटे तक बैठक कर जुमा को राष्ट्राध्यक्ष के पद से हटाने का निर्णय लिया था. वहीं बुधवार को दक्षिण अफ्रीकी पुलिस ने राष्ट्रपति जैकब जुमा के करीबी भारतीय मूल के कारोबारी गुप्ता बंधुओं के घर पर छापेमारी की थी. गुप्ता बंधुओं पर आरोप है कि उन्होंने जैकब जुमा के कार्यकाल के दौरान हुए कथित घोटाले में अहम भूमिका निभाई और कैबिनेट नियुक्तियों को भी प्रभावित किया था.

ब्रिक्स बैठक में बोले मोदी, आतंकवाद के खिलाफ पूरी दुनिया एकजुट हो

मालदीव संकट: सेना ने जमाया संसद पर कब्जा, एक- एक सांसद को खींचकर किया बाहर