टोक्यो: जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने खराब सेहत की वजह से अपने पद से इस्तीफा दिया है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक शिंजो आबे पिछले काफी समय से बीमार चल रहे हैं और अब उन्होंने अपने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देने का फैसला लिया है. शिंजो के इस्तीफे से जापान में सियासी भूचाल आ गया है साथ ही इस बात की चर्चा जोरों शोरों से चल पड़ी है कि शिंजो आबे के बाद जापान के प्रधानमंत्री पद की गद्दी को कौन संभालेगा.

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान शिंजो आबे ने कहा कि मैंने प्रधानमंत्री के पद से हटने का फैसला किया है. बताया जा रहा है कि शिंजो आबे अल्सरेटिव कोलाइटिस से जूझ रहे हैं और वो पिछले काफी समय से इस बीमारी की वजह से परेशान हैं. इसके अलावा, प्रधानमंत्री शिंजो आबे के स्वास्थ्य को लेकर अटकलें हफ्तों से लग रही हैं, मगर हाल के दिनों में लगातार तेज बुखार आने की वजह से वह जांच के लिए दो बार अस्पताल गए. बताया जा रहा है कि उनका कोरोना टेस्ट भी समय समय पर किया जाता रहा है क्योंकि अक्सर शिंजो को बुखार हो जाता है.

आब ने कहा कि मैं अपनी इस बीमारी के लिए एक नया ट्रीटमेंट करा रहा हूं, जिसमें नियमित रूप से जांच और देखरेख की जरूरत है, इस दौरान मैं अपने ट्रीटमेंट के दौरान अपने कर्तव्यों के निर्वहन के लिए पर्याप्त समय नहीं दे पाऊंगा इसलिए मैं अपने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देता हूं. शिंजो आबे ने कहा, ‘अब जब मैं विश्वास के साथ लोगों से मिले जनादेश को पूरा करने में सक्षम नहीं हूं, तो मैंने फैसला किया है कि मुझे अब प्रधानमंत्री के पद पर बने नहीं रहना चाहिए. बताया जा रहा है कि आबे तब तक पद पर बने रहेंगे, जब तक कि उनकी सत्तारूढ़ लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी एक उत्तराधिकारी नहीं चुन लेती. बता दें कि पीएम पद के लिए चुनाव पार्टी के सांसदों और सदस्यों के बीच ही होने की संभावना है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर के जरिए शिंजो आबे की खराब सेहत को लेकर दुख जताया है साथ ही उनके जल्द स्वास्थ्य होने की कामना की है.

North Korea Ballistic Missile Launch: उत्तर कोरिया का दावा- नई पनडुब्बी से लॉन्च की गई बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण, अमेरिका से फिर हो सकता है विवाद

PM Modi in Russia Far East Region: रूस में पीएम नरेंद्र मोदी बोले- 2024 तक विश्व की आर्थिक महाशक्ति बनेगा भारत