नई दिल्ली. दो साल पहले जापान की एक खबर ने इंटरनेट पर तहलका मचा दिया था. खबर यह थी कि एक बच्ची को स्कूल ले जाने और छोड़ने के लिए ट्रेन का एक और स्टॉप बनाया गया था. यह ट्रेन सिर्फ उस लड़की को लाने और ले जाने के लिए ही दिन में दो बार उस स्टॉप पर आती थी. अब ऐसी ही दिल को छू लेने वाला मामला रूस से सामने आया है. रूस के सेंट पीटरबर्ग में एक छात्रा के लिए रेलवे ने एक और स्टॉप शुरू किया है.

सेंट पीटरबर्ग-मुरामांस्क ट्रेन ने अभी हाल ही में अपने रूट पर एक एक्सट्रा स्टॉप शुरू किया है. यह स्पेशल स्टॉप सिर्फ इसलिए शुरू किया गया है ताकि एक लड़की अपनी दादी मां के साथ आसानी से स्कूल जा सके. रसियन रेलवे की इस पहल की चारों तरफ सराहना हो रही है. स्थानीय न्यूजपेपर गुडॉक की बीबीसी द्वारा ट्रांसलेट की गई खबर के मुताबिक, 14 वर्षीय छात्रा करीना कोज्लोवा पोयाकोंडा के दूरदराज ग्रामीण इलाके की रहने वाली है.

करीना अपनी दादी को साथ लेकर हर दिन स्कूल जाती थी जिसमें उसे बहुत परेशानी होती थी. पोयाकोंडा उत्तर पश्चिम रुस में आर्कटिक सर्कल का ग्रामीण क्षेत्र है. अभी तक रेल पोयाकोंडा में कुछ स्टाफर्स के लिए चुनिंदा स्टेशनों पर ही रुकती थी. करीना की मां ने रेलवे से संपर्क कर अपनी बच्ची को सफर में होने वाली कठिनाई से अवगत कराकर एक और स्टॉप बढ़ाने की प्रार्थना की. स्पुतनिक की रिपोर्ट के मुताबिक, करीना और उसकी दादी को समय से स्कूल पहुंचने के लिए बहुत लंबा सफर करना पड़ता था. वे सुबह 7.30 बजे घर से निकलकर रात 9 बजे पहुंचती थीं. लेकिन अब उन्हें घर पहुंचने के लिए इतना समय बर्बाद नहीं करना पड़ेगा.

पकौड़ा पॉलिटिक्स के बीच रेलवे में निकली बंपर 90 हजार वैकेंसी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App