शिकागोः राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने शुक्रवार को विश्व के समस्त हिंदुओं को एकजुट होने के लिए कहा. शिकागो में आयोजित World Hindu Congress (विश्व हिंदू कांग्रेस) में भागवत ने संबोधित करते हुए कहा कि हिंदू समाज में प्रतिभावान लोगों की संख्या ज्यादा है. लेकिन वे कभी एक साथ नहीं आते. हिंदुओं का साथ आना अपने आप में मुश्किल है. उन्होंने कहा कि हजारों वर्षों से हिंदू प्रताड़ित हो रहे हैं क्योंकि वे अपने मूल सिद्धांतों का पालन करना और आध्यात्मिकता तो भूल गए हैं. भागवत ने हिंदुओ की एकजुटता पर जोर देते हुए कहा कि सभी हिंदुओं को एक साथ आना होगा.

अमेरिका के शिकागो में आयोजित विश्व हिंदू कांग्रेस में भागवत ने कहा कि हिंदू किसी का विरोध करने के लिए नहीं जीते बल्कि कुछ लोग भी हो सकते हैं जो हिंदुओं का विरोध करते हैं. संघ प्रमुख मोहन भागवत में संबोधन के दौरान हिंदू समुदाय से एकजुट होकर मानव की भलाई के लिए काम करने की अपील की. आपको बता दें कि शिकागो में स्वामी विवेकानंद द्वारा 11 सितंबर, 1893 को दिए गए चर्चित भाषण के 125 साल पूरे होने पर अमेरिका के शिकागो में विश्व हिंदू कांग्रेस का आयोजन किया जा रहा है. 

विश्व हिंदू परिषद अमेरिका द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में 80 देशों से करीब 2,500 हिंदू हिस्सा लेने पहुंचे हैं. खुद उपराष्ट्रपति वेकैंया नायडू भी विश्व हिंदू कांग्रेस में हिस्सा लेने शिकागो पहुंचे हैं. इस दौरान मोहन भागवत ने वहां मौजूद हिंदुओं को संबोधित कर उनसे एकजुट होने की अपील की. 

यह भी पढ़ें- आरएसएस के सरसंघचालक और मुस्लिम ब्रदरहुड चीफ में ये अनोखी बात कॉमन है!

संघ प्रमुख मोहन भागवत हंसते हुए बोले- मैं बोलूंगा तो मेरी नौकरी चली जाएगी