नई दिल्ली. शंघाई सहयोग संगठन में चीन और पाकिस्तान के साथ भारत के 200 सनिक भी हिस्सा लेंगे. Sco (शंघाई सहयोग संगठन) की मिलिट्री ज्वाइंट एक्सरसाइज अगस्त में होने जा रही है. इसमें भारत, चीन और पाकिस्तान की सेनाएं पहली बार एक साथ अभ्यास करेंगी. इसमें हिस्सा लेने के लिए भारत की राजपूत रेजीमेंट की 5th बटालियन के करीब 200 सैनिक भारतीय वायु सेना के ट्रांसपोर्टर विमान से रूस जाएंगे। इस अभ्यास के लिए भारतीय दल 14-15 अगस्त को भारत से रवाना हो जाएगा.

यह ज्वाइंट मिलिट्री एक्सरसाइज रूस में दक्षिणी यूराल की ढलानों पर स्थित चेबर्कुलस्की में किया जाना है. इस एक्सरसाइज में शंघाई सहयोग संगठन के आठ सदस्य राष्ट्रों के करीब 3000 सैनिक शामिल होंगे. ऐसा पहली बार होगा जब शंघाई सहयोग संगठन के अन्य सदस्यों– रूस, किर्गिजस्तान, उज्बेकिस्तान, ताजिकिस्तान, तजाकिस्तान के साथ भारत, पाकिस्तान और चीन की सेनाएं एक साथ दोस्ताना सैन्य अभ्यास में शामिल होंगी.

इस अभ्यास में संयुक्त रूप से 3000 सैनिक एक ऐसे काल्पनिक शहर पर हमला करेंगे जिसे आतंकियों ने घेर लिया है और वहां के नागरिकों की जान संकट में है. यह सेनाओं का संयुक्त युद्ध अभ्यास शंघाई सहयोग संगठन के क्षेत्रीय आतंकवाद विरोधी संरचना (आरएटीएस) द्वारा आयोजित अभ्यासों की श्रृंखला में नवीनतम होगा. पिछले साल जून में ही भारत और पाकिस्तान को शंघाई सहयोग संगठन के पूर्ण सदस्य का दर्जा मिला है.

भारत और पाकिस्तान के सैन्य अधिकारियों ने अप्रैल और मई में ताशकंद (उज्बेकिस्तान) और इस्लामाबाद (पाकिस्तान) में संयुक्त सैन्य अभ्यास किया था. संघाई सहयोग संगठन का क्षेत्रीय आतंकवाद विरोधी संरचना मुख्यालय ताशकंद में है. इस सैन्य अभ्यास को गुपचुप तरीके से अंजाम दिया गया था. ऐसे में एक बार फिर से भारत पाक सेना संयुक्त रुप से संयुक्त सैन्य अभ्यास करेंगी.

चीन और पाकिस्तान को सन्न कर देने वाली खबर, भारत-अमेरिका ने मिलकर किया ये काम

कश्मीर में सेना के ऑपरेशन ऑल आउट की सेंचुरी, 101 आतंकी मारे गए, 25 परसेंट पाकिस्तानी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App