लंदन. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 2019 में बीजेपी को हराने का फॉर्मूला बताया. उन्होंने कहा कि 2019 लोकसभा चुनाव में सत्तारूढ़ बीजेपी को हराने के लिए कांग्रेस “संगठित गठबंधन” बनाएगी. लंदन के हाउस ऑफ कॉमंस कॉम्प्लेक्स में “इंडिया एंड द वर्ल्ड” के इंटरैक्टिव सेगमेंट के दौरान राहुल गांधी ने भारत की राजनीति पर चर्चा की. राहुल गांधी कहा कि आरएसएस की विचारधारा के चलते देश के अल्पसंख्यकों और दलितों को विकास से बाहर रखने का प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि भारत में नफरत वाली और भड़काऊ विचारधारा को कड़े तरीके से लागू करने का प्रयास किया जा रहा है.

राहुल गांधी ने कहा कि वैचारिक लड़ाई में बड़ी साफ सी बात है कि संघ की नफरत वाली विचारधारा एक तरफ है और सभी विपक्षी पार्टियां एक तरफ हैं. आपको संयुक्त विपक्षी दलों का वजन देखना चाहिए जो कि नफरत वाली विचारधारा के खिलाफ है. प्रवासी भारतीयों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि हम 2019 का चुनाव जीतने जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि इसके बाद हम भारत लौट सकते हैं जहां लोगों का सम्मान किया जाता है.

राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी विभाजनकारी ताकतों से लड़ने के लिए संगठित गठबंधन तैयार कर रही है. कांग्रेस “कमज़ोरों की रक्षा” करने के लिए समर्पित पार्टी है. उन्होंने कहा कि वर्तमान में विरोध करने या सवाल करने वाले लोगों को कुचलने वाली सरकार है. ब्रिटेन के दो दिवसीय दौरे पर कांग्रेस अध्यक्ष ने यूके स्थित संसद सदस्यों और स्थानीय नेताओं के बीच दर्शकों से कहा कि कांग्रेस पार्टी युवा नेताओं को एक साथ लाकर व महिलाओं को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है.

1984 के एंटी सिख दंगों के बारे में राहुल गांधी से कांग्रेस की संलिप्तता के बारे में सवाल पूछा गया. इसके जवाब में कहा कि वह घटनाक्रम काफी दर्दनाक था, लेकिन इसमें कांग्रेस का इन्वॉल्वमेंट नहीं था. राहुल गांधी ने कहा कि मेरा मानना है कि किसी भी तरह की हिंसा गलत है. इस मामले पर कानूनी प्रक्रियाएं चल रही हैं. जहां तक मेरे मानने की बात है तो उस दौरान जो भी हुआ गलत हुआ. मैं इसके दोषियों को दंड देने का पूर्ण समर्थन करुंगा.

लंदन स्कूल ऑफ इकॉनॉमिक्स में PM नरेंद्र मोदी पर बरसे राहुल गांधी, बोले- भारत में नौकरियों का संकट, सरकार मानने को तैयार नहीं

लंदन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुस्लिम ब्रदरहुड से की संघ की तुलना, कहा- देश का माहौल बदलने की कोशिश कर रहा है RSS

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App