नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लंदन में बीजेपी पर लगातार हमला कर रहे हैं. राहुल गांधी ने एक कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तुलना मुस्लिम ब्रदरहुड से कर विवाद खड़ा कर दिया जो कि इस्‍लाम की सर्वोच्‍चता में यकीन करता है. मुस्लिम ब्रदरहुड सुन्‍नी संगठन है जिसकी पकड़ अरब देशों में है. अब राहुल गांधी लंदन स्कूल ऑफ इकॉनॉमिक्स में बोल रहे हैं. लंदन स्कूल ऑफ इकॉनॉमिक्स में बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा कि भारत में नौकरियों का बड़ा संकट है और सरकार इसे नहीं मान रही है. एक दिन में केवल 450 नौकरियां पैदा होती हैं जो कि एक आपदा की तरह है.

राहुल गांधी ने कहा कि मैं विभिन्न समुदायों के पास जाना पसंद करता हूं. उन्होंने कहा कि एक सामान्य भारतीय किसान किसी कृषि विशेषज्ञ से ज्यादा ज्ञान रखता है. कृषि नीतियों में एक सहायक तत्व होता है, जब कृषि संकट होता है और उत्पादक तत्व होता है जब वहां उत्पादन होता है. उन्होंने कहा कि भारतीय परिप्रेक्ष्य में देखा जाए तो पूरे भारत के त्याग से विकास हुआ है. तो फायदा भी पूरे भारत को मिलना चाहिए. किसी भी समुदाय को ऐसा महसूस नहीं होना चाहिए कि उनकी आवाज नहीं सुनी गई.

राहुल गांधी ने कहा कि हम भारतीय संविधान पर हो रहे हमले से बचाव कर रहे हैं. मैं और पूरा विपक्ष इस बात पर सहमत है कि हमारी पहली प्राथमिकता जहर को फैलाने से रोकना है. सताये हुए लोगों के लिए खड़े होने की सोच कांग्रेस की सोच है और ये हर भारतीय के दिल में है. मैं कांग्रेस को एक संगठन के रूप में नहीं देखता, आप सभी कांग्रेस हैं.

राहुल गांधी ने कहा, ब्रिटिश संसद में एक सज्जन ने एक कमरा दिखाया, जहां से भारत को चलाया जाता था. आज वहां 10-12 भारतीय सांसद हैं जो उसी कमरे से ब्रिटेन की मदद कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हिंसा से पीड़ित होने के नाते मैं किसी पर भी, किसी भी तरह की हिंसा की निंदा करता हूं. मैं इस बारे में बेहद स्पष्ट हूँ. मैं अल्पसंख्यकों के लिए एक अलग देश की बात से सहमत नहीं हूं. यदि आप पिछले 70 वर्षों का भारत का इतिहास देखें तो आप समझ जायेंगे कि ज्यादातर अल्पसंख्यक आगे बढ़ने में सक्षम हैं.

किसानों के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि कृषि को प्राथमिकता देने का मतलब ये नहीं है कि उद्योग / सेवा क्षेत्र को छोड़ देना है. भारत में सबसे तेज विकास ग्रामीण इलाकों से आया, क्योंकि मनरेगा और कृषि कर्ज माफ़ी ने ग्रामीण क्षेत्रों में अर्थव्यवस्था गति प्रदान कर दी.

राहुल गांधी ने कहा कि 50 और 60 के दशक में संसद में बहस की गुणवत्ता अधिक थी, लेकिन यदि आप भारतीय संसद में आज बहस का स्तर देखेंगे तो इसकी गुणवत्ता में कमी आई है. ऐसा इसलिए है क्योंकि सांसदों के पास कानून बनाने की शक्ति नहीं है.

जातिवाद के विषय में उन्होंने कहा कि मैं अक्सर सोचता था कि भारत को आर्थिक रूप से बदलने मात्र से जातिवाद ख़त्म हो जाएगा. मैं अब इस बारे में नहीं सोचता. राजस्थान के लिए हमारा दृष्टिकोण सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को विकसित करना और रोजगार प्रदान करना है.

राफेल डील पर उन्होंने एक बार फिर से मोदी सरकार को घेरा. उन्होंने कहा कि देश का सबसे बड़ा रक्षा ठेका, राफले सौदा अनिल अंबानी को दिया गया जिनके ऊपर 45,000 करोड़ रुपये का कर्ज था और उन्होंने अपने जीवन में कभी कोई विमान नहीं बनाया. मैंने प्रधानमंत्री जी को संदेश भेजा है कि जिस दिन वो महिला आरक्षण विधेयक पारित कराना चाहते हों, पूरी कांग्रेस पार्टी ख़ुशी से भाजपा का सहयोग करेगी.

लंदन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुस्लिम ब्रदरहुड से की संघ की तुलना, कहा- देश का माहौल बदलने की कोशिश कर रहा है RSS

लंदन में राहुल गांधी: मुस्लिम ब्रदरहुड से संघ की तुलना पर बीजेपी ने नादान कहा तो संघ ने शाखा में बुलाया

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App