इस्लामाबाद. तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी चीफ इमरान खान ने शनिवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद की शपथ ग्रहण कर ली. शपथ स्पीच के दौरान वे कई फंबल कर बैठे. इस दौरान उन्होंने कुछ ऐसे शब्द बोल दिये जिनका अर्थ बिल्कुल दूसरा था. एक जगह पर उन्हें ‘रोज-ए-कयामत’ (जजमेंट का दिन) बोलना था. इसके बजाय उन्होंने ‘रोज-ए-कयादत’ (नेतृत्व का दिन) बोल दिया.

इमरान खान को राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने पद की शपथ दिलाई. इस दौरान राष्ट्रपति ने इस शब्द को करेक्ट बोलने के लिए दोहराया तो इमरान खान मुस्कुराते नजर आए क्योंकि उन्हें अपनी गलती का एहसास हो गया था. इमरान खान की पार्टी ने पाकिस्तान में हुए आम चुनाव में सबसे ज्यादा सीटें जीती थीं. अपने प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के उम्मीदवार शाहबाज शरीफ को इस दौड़ में हराकर इमरान खान प्रधानमंत्री की कुर्सी तक पहुंचे हैं.

शपथ ग्रहण समारोह में इमरान काले रंग की शेरवानी में थे. उनके साथ उनकी पत्नी बुशरा इमरान भी थीं जो कि बुर्का पहने नजर आईं. इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में कार्यवाहक प्रधानमंत्री नसीरुल मुल्क, नेशनल असेंबली के स्पीकर असद कैसर, सेना प्रमुख जनरल कमर जावे बाजवा, वायुसेना प्रमुख मार्शल मुजाहिद अनवर खान और नौसेना प्रमुख एडमिरल जफर महमूद अब्बासी सहित कई जानी मानी हस्तियां मौजूद रहीं.

इसके अलावा पूर्व भारतीय क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू, क्रिकेटर से कमेंटेटर बने रमीज राजा, वसीम अकरम, पंजाब असेंबली के नवनिर्वाचित स्पीकर चौधरी परवेज इलाही, गायक सलमान अहमद और अबरारुल हक, अभिनेता जावेद शेख आदि भी मौजूद रहे. हालांकि, नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान जाने पर सोशल मीडिया पर उनकी काफी फजीहत हो रही है.

इमरान खान के शपथग्रहण समारोह में पाकिस्तानी आर्मी चीफ को नवजोत सिंह सिद्धू ने लगाया गले, मचा बवाल

Imran Khan swearing-in ceremony Highlights: पाकिस्तान के 22वें प्रधानमंत्री बने इमरान खान, PM हाउस में दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App