नई दिल्ली : दुनियाभर में फैली कोरोना वायरस महामारी ने सभी को परेशान करके रख दिया है, वहीं वायरस की रोकथाम के लिए आई वैक्सीन को लेकर दुनिया भर के लोगों में एक उम्मीद देखने को मिल रही है. लेकिन इस बीच मेक्सिको में फाइजर वैक्सीन को लेकर एक गंभीर मामला सामने आया है. जिसे सुनने के बाद मेक्सिको में हड़कंप मच गया है. दरअसल, मेक्सिको में एक महिला डॉक्टर को कोविड-19 की फाइजर वैक्सीन लगवाने के बाद लकवा मार गया है. फिलहाल, उन्हें आईसीयू में रखा गया है.

कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए एकमात्र इलाज वैक्सीन का इंतजार लंबे समय से किया जा रहा था. हालांकि, तमाम लोग वैक्सीन को पूरी तरह से सुरक्षित नहीं मान रहे हैं. ऐसे में मेक्सिको में हुए इस वैक्सीन के साइड इफेक्ट के मामले ने सभी को हैरानी में डाल दिया है.

बता दें कि, मेक्सिको में कोविड-19 वैक्सीन लगने के आधे घंटे के बाद महिला डॉक्टर को शरीर में चकत्‍ते पड़ने लगे, फिर ऐंठन और कमजोरी महसूस हुई. इसके अलावा महिला को सांस लेने में भी बेहद परेशानी हो रही थी जिसके बाद उसे आईसीयू में भर्ती कराया गया था. डॉक्‍टर का कहना है कि वैक्‍सीन लगने से पहले डॉक्‍टर कार्ला को एक एंटीबायोटिक से एलर्जी थी और इसी कारण उन्हें गंभीर दुष्‍प्रभाव का सामना करना पड़ा है.

इस मामले पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘हम इस बात पर जोर नहीं दे रहे हैं कि डॉक्‍टर कार्ला को लकवा वैक्‍सीन की वजह से मारा है. फिर भी यह स्‍पष्‍ट करना आवश्‍यक है क‍ि इसका वैक्‍सीन के लगने से संबंध है या नहीं है. हम यह दलील नहीं दे रहे हैं कि वैक्‍सीन की वजह से लकवा मारा. इसकी पुष्टि करने के लिए एक शोध की जरूरत है.’

वहीं इस मामले पर डॉक्‍टर कार्ला के परिवार वालों का कहना है कि डॉक्‍टर कार्ला का ठीक से इलाज हो और इस पूरे मामले की जांच की जाए ताकि भविष्‍य में ऐसी किसी घटना को रोका जा सके.

US Capital Hill Violence: अमेरिका में उड़ी लोकतंत्र की धज्जियां, सनकी शासक की वजह से 200 साल बाद हुआ अमेरिका की संसद पर हमला

US Capital Hill Violence: ट्रंप समर्थकों ने संसद परिसर में की हिंसा, अबतक 4 की मौत, कैपिटल हिल में 15 दिन की पब्लिक इमरजेंसी