इस्लामाबाद. इमरान खान के प्रधानमंत्री बनने के बाद भारत के पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा भेजे गए बधाई संदेश पर अपने नवनियुक्त विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के बयान से पाकिस्तान ने पलटी मार ली है. शाह महमूद कुरैशी ने कहा था भारत ने पाकिस्तान को बातचीत का ऑफर दिया है. इस पर पाकिस्तान की तरफ से बयान जारी कर कहा गया है कि भारत के पीएम नरेंद्र मोदी ने किसी भी प्रकार की बातचीत का न्योता नहीं दिया है.

खबर आई थी की पीएम मोदी ने पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान को बधाई पत्र भेजा है. इस पर विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि भारत की तरफ से पाकिस्तान को बातचीत का न्यौता मिला है. इस पर सोमवार को पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बयान जारी कर कहा कि ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं मिला है. इसके अलावा प्रवक्ता ने विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के बारे में भी कहा कि उन्होंने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है. प्रवक्ता ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने पत्र में जो बातें लिखी हैं उन्हें वे पहले भी कहते रहे हैं.

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, पीएम मोदी ने इमरान खान को भेजे पत्र में कहा था कि भारत पाकिस्तान के साथ शांतिपूर्ण पड़ोसी रिश्तों के लिए प्रतिबद्ध है. भारत पड़ोसी देश के साथ सकारात्मक और सार्थक साझेदारी के लिए आशान्वित है. इस पत्र में पीएम मोदी ने आतंकवाद मुक्त दक्षिण एशिया के लिए काम करने की जरूरत पर जोर देने की बात लिखी. सूत्रों के अनुसार, इस पत्र में पीएम मोदी ने किसी प्रकार को कोई प्रस्ताव नहीं रखा था.

पाक प्रवक्ता ने कहा कि भारत के पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की अंत्येष्टि में शामिल हुए पाकिस्तान के कानून मंत्री अली जफर की भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ सकारात्मक माहौल में बातचीत हुई. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान दोनों देशों के बीच सभी मसलों के निवारण के लिए बगैर बाधा के बातचीत का पक्षधर है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को पीएम नरेंद्र मोदी के पत्र में भारत-पाकिस्तान वार्ता बहाली के संकेत

देश के नाम संबोधन में बोले इमरान खान: पाकिस्तान को आपदा से बचाने के लिए भ्रष्टाचारियों की सफाई जरूरी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App