नई दिल्ली. पाकिस्तान ने एक बार फिर मोस्ट वांटेड आतंकवादी और जैश-ए-मोहम्मद (जेएम) प्रमुख मसूद अजहर को रिहा कर दिया है. इससे पहले खुफिया एजेंसियों ने भारत सरकार को चेतावनी दी है कि पाकिस्तान ने राजस्थान में अपनी सीमाओं और सियालकोट-जम्मू सेक्टरों के साथ सैनिकों की तैनाती को बढ़ाया है. कथित तौर पर आईबी इनपुट ने भारत में संभावित आतंकी हमलों की चेतावनी दी थी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इन सीमा क्षेत्रों के साथ भारतीय सुरक्षा बलों को खुफिया सूचनाओं के बाद हाई अलर्ट पर रखा गया है.

भारत द्वारा आतंकवादी घोषित किए गए अजहर को अंतरराष्ट्रीय समुदाय को दिखाने के लिए पाकिस्तान द्वारा गिरफ्तार किया गया था कि वह अपनी मिट्टी से निकलने वाले आतंक के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई कर रहा था. इस्लामाबाद ने पहले भी आंतकी को हिरासत में लिया था और बाद में रिहा कर दिया था. पिछले महीने, एफएटीएफ के एशिया पैसिफिक ग्रुप ने आतंक के वित्तपोषण के खिलाफ कार्रवाई में गैर-अनुपालन पर पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट कर दिया था.

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को रद्द करने के भारत सरकार के फैसले के बाद सैनिकों की बढ़ी हुई तैनाती सामने आई है. शुक्रवार को, पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने धमकी दी थी कि इस्लामाबाद जम्मू और कश्मीर में भारत की कार्रवाई के लिए पूरी तरह से संभव प्रतिक्रिया देगा. इससे पहले, इस मामले का अंतर्राष्ट्रीयकरण करने और संयुक्त राष्ट्र सहित विश्व समुदाय से वैश्विक समर्थन हासिल करने के अपने प्रयासों में, खान ने दावा किया था कि अगर कश्मीर मुद्दे को नजरअंदाज किया गया तो दुनिया किसी भी तबाही के लिए जिम्मेदार होगी.

हाल ही में, पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल क़मर जावेद बाजवा ने भी दावा किया था कि रावलपिंडी – पाकिस्तान का सैन्य मुख्यालय – कश्मीर में भारत की चालों का मुकाबला करने के लिए किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार था. उन्होंने हाल ही में अपील की थी, हमारे कश्मीरी भाइयों के लिए बलिदान दें, अंतिम गोली, अंतिम सैनिकों और अंतिम सांस तक हमारे कर्तव्य को पूरा करें.

Imran Khan Bhikhari Google Search: अब भी गूगल पर भिखारी सर्च करने पर आ रहा है पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का फोटो

Pakistan Airspace Ban for Indian President Ramnath Kovind: पाकिस्तान ने भारत के लिए एयरस्पेस के इस्तेमाल की नहीं दी इजाजत, नरेंद्र मोदी सरकार ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आगामी दौरे के लिए किया था आग्रह

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App