इस्लामाबाद/नई दिल्ली. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर खोलने की घोषणा की है. पिछले लंबे समय से सिख लोगों को करतारपुर कॉरिडोर के खुलने की उम्मीद थी. इस कॉरिडोर के जरिए पाकिस्तान में स्थित करतापुर दरबार साहिब को भारत के गुरदासपुर में स्थित डेरा बाबा नानक सिंह गुरुद्वारे के जरिए जोड़ा जा रहा है. करतारपुर कॉरिडोर के जरिए भारतीय सिख धर्म के लोगों को दरबार साहिब के दर्शन करने में आसानी होगी. भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर मुद्दे पर जारी तनाव के बीच पाक पीएम इमरान खान ने रविवार को एलान किया कि करतारपुर कॉरिडोर 9 नवंबर को खोल दिया जाएगा.

इमरान खान ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि करतारपुर प्रोजेक्ट का निर्माण कार्य अंतिम चरण पर है. 9 नवंबर को विश्वभर के सिखों के लिए करतारपुर कॉरिडोर खोल दिया जाएगा. भारत और दुनिया के अन्य देशों से सिख आकर विश्व के सबसे बड़े गुरुद्वारे के दर्शन कर सकेंगे.

इमरान खान ने बताया कि करतारपुर सिख समुदाय का सबसे प्रमुख धार्मिक स्थल है. इस कॉरिडोर के खुलने से स्थानीय अर्थव्यवस्था उछाल मारेगी. इससे पाकिस्तान में लोगों को रोजगार मिलेगा और टूरिज्म को बढ़ावा मिलेगा.

आपको बता दें कि सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव की 550वीं जन्मजयंती के मौके पर करतारपुर कॉरिडोर के खुलने के प्रयास किए जा रहे थे. गुरु नानक देव का 550वीं जन्म जयंती 12 नवंबर को मनाई जाएगी. पाकिस्तान सरकार इससे तीन दिन पहले 9 नवंबर को ही करतारपुर कॉरिडोर खोलने जा रहा है. 

इससे पहले पाकिस्तान की ओर से बयान आया था कि भारत के पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस नेता मनमोहन सिंह करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन कार्यक्रम में शिरकत करेंगे. वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी घोषणा की थी कि वे करतारपुर जाने वाले पहले जत्थे के में शरीक होंगे. 

Also Read ये भी पढ़ें-

पीएम नरेंद्र मोदी 8 नवंबर को करेंगे करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने दी जानकारी

करतारपुर कॉरिडोर उद्घाटन समारोह में शामिल होने पाकिस्तान नहीं जाएंगे पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ जत्थे में होंगे शामिल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर