नई दिल्ली. पाकिस्तान में हिंदुओं की संपत्ति जबरन कब्जाए जाने का मामला सामने आया है. एक महिला प्रोफेसर डॉ. भगवान देवी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर कहा है कि अल्पसंख्यक हिंदू पाकिस्तान में अराजकता का सामना कर रहे हैं.  इस वीडियो के सामने आने के बाद से पाकिस्तान के प्रधान न्यायाधीश (CJP) साकिब निसार  ने केन्द्रीय और सिंध प्रांत के अधिकारियों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. अदालत ने सिंध के महाधिवक्ता, मानवाधिकार सचिव, अल्पसंख्यक मामलों के विभाग के सचिव, सिंध के प्रमुख सचिव, धार्मिक मामलों एवं अंतरधर्म सौहार्द मंत्रालय, सिंध सरकार और लाड़काना जिले के आयुक्त, समेत पाकिस्तान के अटार्नी जनरल को ये नोटिस भेजा है.

सुप्रीम कोर्ट के प्रवक्ता द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक, एक सेवानिवृत्त प्रोफेसर डॉ भगवान देवी द्वारा सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट किए जाने के बाद ये नोटिस भेजे गए.  वीडियो में, लारकाना के निवासी प्रोफेसर ने आरोप लगाया कि सिंध में हिंदुओं की जमीन अवैध रूप से नकली दस्तावेजों की मदद से कब्जाई जा रही है. इसके कारण प्रांत के हिंदू निवासियों को असुरक्षा का अहसास हो रहा है.

भगवान देवी ने वीडियो में कहा है कि सिंध के विभिन्न इलाकों (खासकर लाड़काना) में भू माफिया हिंदुओं की संपत्ति पर जबरन कब्जा कर रहे हैं. देवी ने कहा कि समुदाय के प्रभावित लोगों को गुपचुप तरीके से धमकी भी दी जा रही है. बता दें कि भगवान देवी का वीडियो सामने आने के बाद से पाकिस्तान में हिन्दुओं की सुरक्षा को लेकर चर्चा छिड़ गई है.

सुरक्षा में बड़ी सेंध, पाकिस्तान को जानकारी लीक कर रहा ISI एजेंट ब्रह्मोस नागपुर यूनिट से गिरफ्तार

इंटरनेशनल क्रिमिनल को पकड़ने वाले इंटरपोल के चीफ चीन में लापता

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App