नई दिल्ली: पाकिस्तान की एंटी करप्शन बॉडी ने भ्रष्टाचार के मामले में पूर्व प्रधानमंत्री आसिफ अली जरदारी को जेल भेज दिया है. जरदारी पहले से ही मल्टी डॉलर मनी लॉन्ड्रिंग मामले में अपनी बहन के साथ नेशनल अकाउंटेबिलिटी ब्यूरो की हिरासत में हैं. एनबीए के मुताबिक जरदारी ने फर्जी अकाउंट के जरिए 150 मिलियन डॉलर का लेन-देन किया. पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के सह-निदेशक 63 साल के जरदारी पूर्व प्रधानमंत्री बेनजरीर भुट्टो के पति हैं जो पाकिस्तान की पहली महिला प्रधानमंत्री थीं.

जरदारी को इस बार पार्क लेन केस में गिरफ्तार किया गया है जो लंदन स्थित प्रॉपर्टी लेन-देन का मामला है. जरदारी ने इस्लामाबाद हाई कोर्ट में हिरासत में रखे जाने के खिलाफ अंतरिम जमानत की याचिका डाली थी लेकिन वो भी निरस्त हो गई और अब मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया गया है. जरदारी ने कहा था कि वो अपनी याचिका को वापस ले रहे हैं क्योंकि अगर उन्हें जमानत मिल गई तो एनबीए उनके खिलाफ और भी फर्जी मामले लेकर आएगा.

गिरफ्तार होने के बाद जरदारी पिछले हफ्ते पाकिस्तान की संसद पहुंचे थे और कहा था कि ये अब उनकी गिरफ्तारी नहीं हो सकती. उन्होंने कहा था कि गिरफ्तारी से कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा बल्कि जनता के बीच डर का माहौल जरूर बन जाएगा. माना जा रहा है कि एनबीए पार्क लेन केस में उनके रिमांड की मांग कर सकती है.

जरदारी का राजनीतिक करियर हमेशा संदेह में ही रहा क्योंकि भ्रष्टाचार के कई मामलों में वो कई सालों तक जेल में रहे लेकिन एक भी मामले में उन्हें दोषी नहीं पाया गया. आसिफ अली जरदारी साल 2008 से 2013 तक पाकिस्तान के राष्ट्रपति रहे. उन्होंने किसी भी तरह के फेक अकाउंट की बात से इनकार किया है. उनका आरोप है कि पाकिस्तान की रूलिंग पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ उन्हें फंसाने की कोशिश कर रही है.

Home Minister Amit Shah Rajya Sabha Speech Video: जम्मू-कश्मीर में 6 महीने और राष्ट्रपति शासन, राज्यसभा से गृहमंत्री अमित शाह ने दी अलगाववादियों को चेतावनी, जो कश्मीर को तोड़ने की बात करेगा, उसे मिलेगा करारा जवाब

India Beats Pakistan In ICC Cricket World Cup 2019 Manchester ODI Memes: वर्ल्डकप मैच मे पाकिस्तान की हार पर भारतीय क्रिकेट फैन्स ने जमकर बनाए मीम्स और वीडियो, फैन्स बोले- पाकिस्तान को हार का अभिनंदन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App