इस्लामाबादः पाकिस्तान के आर्मी प्रमुख कमर बाजवा ने पाकिस्तान के रक्षा दिवस पर डिफेंस डे सेरेमनी पर भारत को ललकारते हुए कहा कि सरहद पर जो खून बहा और बह रहा है उसका बदला लेंगे. गुरुवार को हुए आयोजन के दौरान पाक आर्मी चीफ ने संबोधन के दौरान 1965 और 1971 में हुए युद्ध का भी जिक्र किया. लेकिन यह भूल गए कि 6 सितंबर को ही भारत ने पाकिस्तान को धूल चटाई थी. आपको बता दें कि 1965 में हुए युद्ध की वर्षगांठ को पाकिस्तान छह सितंबर को रक्षा दिवस के रूप में सेलिब्रेट करता है. 

इस मौके पर पाक  आर्मी चीफ ने अपने भाषण में कहा कि 6 सितंबर, 1965 में पाकिस्तान ने दुश्मन के दांत खट्टे कर दिए थे. जंग में हर पाकिस्तानी वतन का सिपाही बना और इसकी हिफाजत के लिए एकजुट होकर अपनी भूमिका निभाई. उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सेना के जवान आग में कूद पड़े लेकिन अपने देश पर आंच तक नहीं आने दी. हमारे जवान भी इस दिन से आज भी प्रेरणा लेते हैं. 1965 और 1971 में हुए युद्ध से हमने काफी कुछ सीखा है. उन्होंने आगे कहा कि मुश्किल हालातों में भी देश की जनता की मदद से हम परमाणु संपन्न देश बने रहे. जिसके बाद पाकिस्तान ना हारने वाला मुल्क बन गया. 

पाक आर्मी चीफ यहीं नहीं रुके डिफेंस डे के अवसर पर उन्होंने आगे कहा कि मुल्क के स्कूलों, इबादतगाहों को कमजोर करने की कोशिश की गई. लेकिन हमारा मुल्क ऐसे हालातों में भी डटा रहा. उन्होंने शायराना अंदाज में कहा कि लहू जो सरहद पर बह चुका है, लहू जो सरहद पर बह रहा है…हम इस लहू का हिसाब लेंगे. 

यह भी पढ़ें- नवाज शरीफ के करप्शन के खिलाफ जीते इमरान खान की सरकार में पहला भ्रष्टाचार इस्तीफा

पाक सेना प्रमुख से गले मिलने पर नवजोत सिंह सिद्धू पर भड़के पंजाब CM कैप्टन अमरिंदर सिंह, बोले- इसका हमसे कोई लेना-देना नहीं

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App