नई दिल्ली/ प्रिंस हैरी की पत्नी मेगन मार्कल ने ब्रिटेन के शादी परिवार पर भेदभाव के गंभीर आरोप लगाए है. मेगन मार्कल ने इतना भी कहा कि वो जिंदा नहीं रहना चाहती थी और आत्महत्या के बारे में सोच रही थी. मेगन मार्कल ने ये खुलासा अमेरिकी टीवी होस्ट ओपरा विनफ्री के साथ इंटरव्यू में कहा था. इसके साथ साथ कई और बड़े खुलासे भी इस इंटरव्यू में किए है. अमेरिका न्यूज चैनल सीबीएस पर इस इंटरव्यू को रविवार को टेलीकास्ट किया गया है.

मेगन मार्कल ने इंटरव्यू में कहा कि जब वो मेंटल हेल्थ की समस्या से जूझ रही थी तब उनकी मदद नहीं की गई थी. आगे बताया कि उनके बच्चे के रंग को लेकर भी शाही परिवार में चिंता जताई जा रही थी. बता दें कि मेगांवके पिता गोरे है और उनकी माता अश्वेत है. मेगन मार्कल ने कहा कि वो जिंदा नहीं रहना चाहती थी और मेरे दिमाग में ये बात लगातार चल रही थी.

मेगन मार्कल से ओपरा विनफ्री ने पूछा कि वो आत्महत्या के बारे में सोच रही थी. मेगन मार्कल ने कहा कि जी ये मेरे दिमाग में था. में इसके बारे में सोच रही थी. मै उन दिनों बेहद डरी हुई थी.

मार्कल से ओपरा ने बच्चे के रंग को लेकर सवाल किया. तो मार्कल ने बताया कि उन महीनों में जब मैं गर्भवती थी तो तरह-तरह की बातें की जा रही थीं. कहा जा रहा था कि मेरे बच्चे को सुरक्षा नहीं दी जाएगी. उन्हें कोई टाइटल भी नहीं दिया जाएगा. साथ ही उसकी त्वचा कितनी काली हो सकती है. इस पर भी बात की जा रही थी.

मेगन मार्कल ने बताया कि शाही परिवार से जुड़ने के बाद उनकी आजादी काफी कम हो गई थी. रॉयल परिवार में जिंदगी काफी अकेली थी. कई दिनों तक बेहद अकेलापन महसूस करती थी. इतना ज्यादा कर रही थी कि मैंने अपनी ज़िंदगी में कभी नहीं किया. कई तरह के नियमों से बांध दिया गया था. मैं दोस्तों के साथ लंच के लिए बाहर भी नहीं जा सकती थी.

IFFCO Will Not Increase Price: बढ़ती महंगाई के बीच किसानों को बड़ी राहत, बढ़ती लागत के बावजूद इफको डीएपी, एनपीके और एनपीएस के नहीं बढ़ाएगी दाम

Hurun Global List 2021: दुनिया के सबसे अमीर लोगों की सूची में आते है मुकेश अंबानी, जानिए किस नंबर पर है मुकेश अंबानी