सिंगापुर. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग उन चीन की फ्लाइट से सिंगापुर पहुंच चुके हैं. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो किम जोंग इस ऐतिहासिक सम्मेलन में शामिल होने के लिए किम जोंग उन सिंगापुर चाइना फ्लाइट्स से पहुंचे हैं. ट्रंप और किम जोंग की मुलाकात 12 जून को सिंगापुर में होनी है. जिस पर विश्वभर की नजर टिकी हुई हैं. इस मुलाकात से पहले दोनों राष्ट्राध्यक्ष के बीच गरम माहौल देखा गया था. ये समिट कैंसिल होते होते बचा है.

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो उत्तर कोरिया के तानाशाह चाइना फ्लाइट 747 से सिंगापुर पहुंचे हैं. वह स्थानीय समय के अनुसार प्योंगयोंग से बीजिंग के लिए सुबह 4.18 रवाना हुए. जहां  वह तकरीबन एक घंटा रुके. बतौर मीडिया सिंगापर पहुंचने तक तानाशाह के उड़ान की संख्या बदल दी गई जो कि चीनी राजधानी बीजिंग में दिखाई पड़ी थी.

डोनाल्ड ट्रंप और किम जोंग उन की ऐतिहासिक समिट के लिए सिंगापुर में कड़ी सुरक्षा का इंतजाम किया गया है. सिंगापुर में चप्पे चप्पे पर जवानों का तैनात किया गया है. इस वार्ता के लिए कई मार्गों को बंद तो कई रास्तो का रूट डाइवर्ट कर दिया गय है. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इस शिखर वार्ता सम्मेलन से सिंगापुरवासियों के रोजमर्रा जीवन प्रभावित होगा और हजारों की संख्या में अफसर तैनात होंगे.

बता दें इस समिट को विश्वभर के 2500 पत्रकार कवर करेंगे. मीडिया से बातचीत में अमेरिका के राष्ट्रपति साफ कर चुके हैं कि वह इस बैठक के लिए बिल्कुल तैयार हैं. माना जा रहा है कि अगर ये समिट सफल होता है तो ट्रंप किम को व्हाइट हाउस आने का न्यौता भी दे सकते हैं. डोनाल्ड ट्रंप ने इस मुलाकात को शांति स्थापित करने का मिशन कहा है. शनिवार को जी7 सम्मेलन में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि प्योंगयांग सकारात्क कदम उठाएगा.

सिंगापुर में 12 जून को सुबह 9 बजे होगी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और तानाशाह किम जोंग की ऐतिहासिक वार्ता

7 मस्जिदों को बंद कर कई इमामों को निष्कासित करेगा ऑस्ट्रिया

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App