North Korea:

नई दिल्ली. North Korea: उत्तर कोरिया के सनकी तानाशाह किम जोंग उन Kim Jong Un ने एक बार फिर मिसाइल परीक्षण करके दुनिया को चौंका दिया है. उत्तर कोरिया के इस कारनामे ने कोरियन पेनिसुला में तनाव की स्थिति को और बढ़ा दिया है. जापान सागर में दागी गई इस बैलिस्टिक मिसाइल की पुष्टि जापान और साउथ कोरिया के उच्च अधिकारियों ने भी की है

दबाव बनाने की रणनीति

इस तरह के मिसाइल परीक्षण से उत्तर कोरिया की कोशिश अंतराष्ट्रीय समुदाय का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने और पड़ोसी जापान- साउथ कोरिया के ऊपर दबाव बनाने की होती है. अपने परमाणु कार्यक्रमों की वजह से अंतराष्ट्रीय प्रतिबंधों की मार झेल रहे उत्तर कोरिया की इन हरकतों में अमेरिका के लिए एक संदेश छिपा होता है. जिसका मुख्य उद्देश्य प्रतिबंधों में ढील और आर्थिक मदद पाना होता है

गरीबी और भुखमरी से है परेशान तानाशाह

हथियार परीक्षण की सनक और लग्जरी लाइफ स्टाइल जीने में पानी की तरह पैसे बहाने वाले किम जोंग के देश की जनता के इस वक्त बुरे दिन चल रहे है. देश में जरूरत की चीजों के दाम आसमान छू रहे हैं और 80% से ज्यादा जनता इस वक्त खाने की कमी से जूझ रही है, एक वजह ये भी है कि किम बार-बार मिसाइलों का परीक्षण औऱ अमेरिका को परमाणु हमले की धमकी की देता है. इससे उसे अपनी जनता का ध्यान जरूरी मुद्दों से भटकाने में मदद मिलती है

कोरोना ने किया अर्थव्यवस्था का बुरा हाल

उत्तर कोरिया की अर्थव्यवस्था इस समय खस्ता हाल में है. इसकी वजह कोरोना काल में तानाशाह द्वारा लिए गए कठोर फैसले हैं. बता दे कि कोरोना से खौफजदा किम ने अपने देश की सीमा पूरी तरह बंद करवा दिया था और सेना को सीमा-पार आने जाने वाले किसी भी शख्स को गोली मारने का आदेश दिया था. जिसकी वजह से उसका उसके एक मात्र भरोसेमंद दोस्त और पड़ोसी चीन से होने वाला व्यापार भी बंद हो गया.

 

यह भी पढ़ें:

Corona Update : देश में कोरोना का भयंकर विस्फोट, 24 घंटे में 58,097 नये केस, 534 की मौत

CDS Helicopter Accident जांच रिपोर्ट रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को सौंपी, कम ऊंचाई पर उड़ रहा था हेलिकॉप्टर

SHARE