नई दिल्ली.  मारिया रेसा और दिमित्री मुराटोव को इस साल का नोबेल शांति पुरस्कार ( NOBLE PEACE 2021 ) दिया गया है। उन्हें यह पुरस्कार ‘अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की रक्षा के लिए’ उनके प्रयासों के लिए दिया गया। यह पुरुस्कार हर साल किसी ऐसे व्यक्ति या संगठन को दिया जाता है जो कि राष्ट्र में भाईचारे और शांति को बढ़ाने पर जोर देते हैं आपको बता दें मारिया रेसा एक फिलीपीनी पत्रकार हैं और उन्हें ये पुरस्कार फिलफिन्स में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर जोर देने और उसे बनाए रखने के आधार पर दिया गया है.

मारिया रेसा और दिमित्री मुराटोव को 2021 का नोबेल शांति पुरस्कार

द नोबेल प्राइज ने अपने ट्वीट में लिखा- नार्वेजियन नोबेल समिति ने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की रक्षा के प्रयासों के लिए मारिया रेसा और दिमित्री मुराटोव को 2021 का नोबेल शांति पुरस्कार देने का फैसला किया है, जो लोकतंत्र और स्थायी शांति के लिए एक पूर्व शर्त है।

पिछले साल यह पुरस्कार विश्व खाद्य कार्यक्रम को दिया गया था, जिसकी स्थापना 1961 में विश्व भर में भूख से निपटने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति ड्वाइट आइजनहावर के निर्देश पर किया गया था।

आपको बता दें भारत में यह पुरस्कार मदर टेरेसा (1979 ), दलाई लामा (1989) और कैलाश सत्यार्थी (2014 ) को मिल चुका है. इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के तहत एक स्वर्ण पदक और एक करोड़ स्वीडिश क्रोर (11.4 लाख डॉलर से अधिक राशि) दी जाती हैं।

 

यह भी पढ़ें :

AFGANISTHAN BLAST: कुंदुज शहर की शिया मस्ज़िद में बड़ा विस्फोट, काफी संख्या में लोग जख्मी

Ways to Sharpen Your Mind ऐसे बनाए अपने दिमाग को तेज, नहीं कहेगा कोई मंदबुद्धि