एम्सटरडैम: नीदरलैंड दुनिया के उन चंद देशों में से एक है जहां लोग ऑफिस जाने के लिए कार से ज्यादा साईकिल का इस्तेमाल करते हैं. एक रिसर्च के मुताबिक नीदरलैंड में लोगों से ज्यादा साईकिल है. सरकार भी नीदरलैंड में साईकिल को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाती है जैसे साईकिल चलाने वालों के लिए वर्ल्ड क्लॉस रास्ते ताकि वो आसानी से अपनी साईकिल पार्क भी कर सकें और सुरक्षित चल सकें. इस ओर एक कदम और आगे बढ़ते हुए नीदरलैंड सरकार ने डच लोगों को साईकिल चलाने के लिए और प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से एक नई स्कीम निकाली है जिसके मुताबिक लोगों को प्रति किलोमीटर साईकिल चलाने पर $0.22 यानी 16 रूपये मिलेंगे और इन पैसों पर आपको टैक्स नहीं भरना होगा. ये पैसा वो कंपनी देगा जिसके लिए आप काम कर रहे हैं. इसमें सिर्फ एक ही कंडीशन है और वो ये कि साईकिल से ऑफिस जाने के दौरान जितने आपने किलोमीटर साईकिल चलाई होगी उसी के पैसे मिलेंगे, पर्सनल कामों से अगर आपने साइकिल चलाई है तो उसके बदले आपको पैसे नहीं मिलेंगे.

गौरतलब है कि लंदन में भी वर्क स्कीम कुछ ऐसी है कि कंपनियां अपने कर्मचारियों को डिस्काउंट रेट पर बाइक देती है. बेल्जियम और नीदरलैंड में भी ये स्कीम काम करती है. इसके अलावा यूरोप के कई देशों में साइकिल खरीने पर टैक्स में छूट मिलती है.

इसके पीछे उद्देश्य सिर्फ इतना है कि वातावरण दूषित ना हो साथ ही साथ ये कि लोग कम से कम बीमार पड़ें. साइकिल चलाने से ना सिर्फ इंधन की बचत होती है बल्कि साइकलिंग से सेहत भी अच्छी रहती है और ये एक तरह का व्यायाम भी है जो आपको बीमारियों से दूर रखता है.

Chitrakoot Kidnapped Case: चित्रकूट से जुड़वा भाइयों का अपहरण करने वाली गाड़ी पर लगा था बीजेपी का झंडा

Aligarh Muslim University: अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के 14 छात्रों पर देशद्रोह का केस दर्ज, नारेबाजी और महिला पत्रकार से बदसलूकी का आरोप

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App