नई दिल्ली. अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव 2020 के लिए न्यूयॉर्क शहर के पूर्व मेयर माइकल ब्लूमबर्ग ने डेमोक्रेट पार्टी से राष्ट्रपति पद की रेस में अपनी दावेदारी ठोकी है. माइकल ब्लूमबर्ग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अच्छे दोस्त माने जाते हैं और अमेरिकी-भारत रिश्तों के हमेशा समर्थक रहे हैं. 77 साल के ब्लूमबर्ग हालिया कुछ सालों में भारत की यात्राएं कर चुके हैं.

माइकल ब्लूमबर्ग ने राष्ट्रपति पद के लिए दावेदारी ठोकते ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को घेरना भी शुरू कर दिया है. माइकल ब्लूमबर्ग ने कहा कि वे राष्ट्रपति चुनाव डोनाल्ड ट्रंप हराकर अमेरिका के पुनर्निर्माण के लिए लड़ रहे हैं. ब्लूमबर्ग ने कहा कि अमेरिका के लोग डोनाल्ड ट्रंप के लापरवाह और गलत कदमों को अगले चार साल नहीं झेल सकते हैं.

माइकल ब्लूमबर्ग ने आगे कहा कि अगर डोनाल्ड ट्रंप फिर अमेरिका के राष्ट्रपति बनते हैं तो हम शायद देश में हुए नुकसान की कभी भी भरपाई नहीं कर सकेंगे. माइकल ब्लूमबर्ग ने कहा कि हमे हर हाल में यह चुनाव जीतना होगा और एक बार फिर अमेरिका को फिर बनाना होगा. ब्लूमबर्ग ने आगे कहा कि उन्हें भरोसा है कि उनका करोबार, सरकार और मानव प्रेम इस चुनाव को जीतने और आगे बढ़ने का मौका देगा.

अमेरिका के ब्लूमबर्ग न्यूज वायर के मालिक और कारोबारी माइकल ब्लूमबर्ग ने कहा कि वे अपने चुनाव प्रचार का खर्चा खुद उठाएंगे और किसी भी तरह का कॉरपोरेट चंदा नहीं लेंगे. एक दूसरे बयान में ब्लूमबर्ग ने कहा कि साल 2016 में जब डोनाल्ड ट्रंप ने रिपब्लिकन पार्टी से अपनी दावेदारी की थी उसी समय उन्होंने ट्रंप के खतरनाक विचारों को रोकने के लिए उन्हें हराने की ठान ली थी.

Brazilian President Chief Guest at India Republic Day 2020: ब्राजील के राष्ट्रपति होंगे गणतंत्र दिवस 2020 के मुख्य अतिथि, पीएम मोदी का निमंत्रण किया स्वीकार

ISIS Chief Abu Bakr Baghdadi Death Video Photo: अमेरिका पेंटागन ने जारी की आईएसआईएस चीफ अबू बकर अल बगदादी को मार गिराने के लिए मारे गए छापे की तस्वीरें और वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App