सोलोः इंडोनेशिया में एक शख्स ने अपनी पूर्व पत्नी को गुजारा भत्ता के रूप में 7.3 लाख रुपये की रेजगारी दी. द्वी सुसीलार्तो नाम का यह शख्श कोर्ट में 153 मिलियन रुपिया यानी करीब 7 लाख 30 हजार की रेजगारी लेकर कोर्ट पहुंचा जिसका वजन करीब 890 किलोग्राम था. जिसे लेकर शख्स और उसकी पूर्व पत्नी की वकील के बीच झ़़ड़प तक हो गई. वकील ने इतने लाख की रेजगारी गिनने से ही मना कर दिया. सुसीलार्तो ये करीब 900 किलो की रेजगारी ठेला गाड़ी पर लेकर पहुंचा था.

महिला की वकील ने आरोप लगाया कि शख्स उसकी पूर्व पत्नी और उनकी क्लाइंट का मजाक बनाना चाहता है इसलिए उसने ऐसा काम किया. जिसे व्यक्ति के वकील ने सिरे से नकार दिया उसने कहा कि उसके क्लाइंट का किसी का मजाक बनाने का कोई इंटेशन नहीं था. उसने बताया कि उसके क्लाइंट के पास इतने पैसे नहीं थे इसलिए कोर्ट के महिला को इतने रुपये चुकाने के आदेश के बाद उसने अपने दोस्तों से संपर्क किया जिन्होंने सहायता कि जिसके चलते ये राशि रेजगारी में दी जा रही है.

वहीं व्यक्ति की पूर्व पत्नी ने राशि तो स्वीकार कर ली लेकिन यह व्यक्ति के बात को बहाना बताते हुए कहा कि ये मेरी बेइज्जती है. मुझे इस तरह से रुपये देने मुझे गरीब कहने जैसा है. हालांकि कोर्ट ने स्टाफ को रुपये गिनने का आदेश दिया है. बता दें कि एक शख्स 7.30 लाख की रेजगारी लेकर कोर्ट पहुंच गया. दरअसल कोर्ट के आदेश के बाद उसे अपनी पत्नी को निर्वाह निधि के रूप में रुपये का भुगतान करना था.  

यह भी पढ़ें- हड़ताल पर उतरे जानवरों सी जिंदगी जी रहे अमेरिकी जेलों के कैदी, बोले- गुलामी से पाना है छुटकारा

आखिर क्यों वेनेजुएला में 10 लाख फीसदी तक बढ़ी महंगाई, समझें पूरा गणित

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App