नई दिल्ली. Make in india : जब हम बात युद्ध की करते हैं तो सबसे पहली बात हमारे मन में भारत के हथियार संपन्न होने की ही आती है. और पिछले कुछ दशकों से तो भारत अमेरिका चीन और जापान जैसे देशों को इस मामले में टक्कर दे रहा है.

गलवान घाटी में चीनी सैनिकों ने आधुनिक नॉन लीथल हथियारों के साथ भारतीय सैनिकों पर वार किया था. चीन के सैनिकों ने भारतीय सैनिकों पर तार वाली लाठी और टेसर से हमला किया था. जिसके जवाब में अब भारतीय सुरक्षाबलों ने चीन को मज़ा चखाने के लिए गैर-घातक हथियार विकसित करने का फैसला किया है. जिन्हें नोएडा की एक स्टार्ट-अप फर्म ने तैयार किया है. अब आपको उन हथियारों के बारे में बताते हैं जो यह कंपनी तैयार करने वाली है.

त्रिशूल

चीन को मज़ा चखाने के इरादे से नोएडा की एक स्टार्ट-अप फर्म जो सबसे पहले हथियार तैयार करने जा रहा है वह है त्रिशूल बता दें कि ये त्रिशूल एक नॉन लीथल हथियार है. इसमें बिजली दौड़ती है. साथ ही साथ इसको गाड़ियों को पंचर करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है. इसे ऑपरेट करने के लिए इसमें लगा बस एक बटन प्रेस करना होता है. फिर त्रिशूल में करंट दौड़ने लगता है.

पंच

सैपर पंच एक नॉन लीथल हथियार है. इसे चीनी दुश्मनों के खिलाफ इस्तेमाल करने के लिए बनाया गया है. इसमें भी बिजली दौड़ती है. ये हैंड टू हैंड कॉम्बैट में काफी मददगार साबित होगा. और यह हथियार सैपर पंच दुश्मन को करंट भी लगा सकता है.

वज्र

वज्र एक लोहे की लाठी के सामान होता है. जिसे बिजली के करंट और कांटेदार तारों के साथ बनाया गया है. इसे आसानी से दुशमन को टच करवाकर करंट लगाया जा सकता है.

भद्र और दंड

भद्र एक खास तरह की ढाल है. ये जवानों को पत्थरों के हमले से बचाने में मददगार होगा. भद्र के एक सेक्शन में बिजली दौड़ती है. इसकी मदद से दुश्मनों को मजा चखाया जा सकता है. इसमें एक चमकीली लाइट निकलती है जो दुश्मन टेंपरेरी तौर पर अंधा कर सकती है. वहीं, दंड हथियार बिजली से चलने वाला एक डंडा है. इसे इस्तेमाल करने के लिए इसमें एक सेफ्टी स्विच है. अगर कोई दुश्मन हमसे ये छीन भी लेता है तो हमारे खिलाफ इस्तेमाल नहीं कर पाएगा.
वीडियो वायरल होते ही पार्टी में हड़कंप मच गया. सपा कैसे खा रही है मात ?

यह भी पढ़ें :

Deputy Speaker Election: यूपी में सपा की फजीहत, बीजेपी के समर्थन से बागी नितिन अग्रवाल बने विधानसभा उपाध्यक्ष

Cm Charanjeet signh and sidhu Meeting सीएम चन्नी से मिले नवजोत सिंह सिद्धू