लंदन: विकीलीक्स के संस्थापक जुलियन पॉल असांजे को गुरुवार को लंदन पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. अब तक उन्हें इक्वाडोर दूतावास में संरक्षण प्राप्त था इस वजह से पुलिस उनतक नहीं पहुंच पा रही थी लेकिन जैसे ही इक्वाडोर दूतावास ने बयान जारी किया कि वो अब असांजे को राजनेयिक संरक्षण नहीं दे रही है वैसे ही लंदन पुलिस इक्वाडोर एंबेसी में गई और असांजे को लेकर आई. पुलिस ने असांजे की गिरफ्तारी को लेकर कहा गया है कि कई बार नोटिस देने के बाद भी असांजे कोर्ट के सामने पेश नहीं हुए जिसकी वजह से उन्हें गिरफ्तार किया गया है. असांजे पिछले सात सालों से इक्वाडोर एंम्बेसी में रह रहे थे.

गौरतलब है कि विकीलीक्स ने इक्वाडोर के राष्ट्रपति मोरेनो के जीमेल ने अमेरिका से डील की थी कि हम असांजे आपको सौंप देंगे इसके बदले आप हमारा कर्ज माफ कर दो. विकीलीक्स ने इक्वाडोर के राष्ट्रपति मोरेनो के आईफोन, व्हाट्सएप और टेलीग्राम के लीक कंटेंट के आधार पर ये सूचना जारी की थी जो न्यूयॉर्क टाइम्स में छापा था.

इसके जवाब में मोरेनो के संचार मंत्री जोस वोलेंनसिया ने विकीलीक्स के ट्वीट को बकवास बताते हुए कहा था कि ये सफेद झूठ है जो इक्वाडोर की प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने के लिए किया गया है, उन्होंने ये भी कहा था कि इस अपमान को हम बर्दाश्त नहीं करेंगे. उन्होंने तभी कहा था कि इन आरोपों पर पर क्या और कब कार्रवाई करेंगे ये तय नहीं है लेकिन कार्रवाई करेंगे ये तय है.

विकीलीक्स ने ट्वीट कर बताया कि असांजे इक्वाडोर एंबेसी से बाहर नहीं आना चाहते थे जिसके बाद इक्वाडोर के राजदूत ने लंदन पुलिस को बुलाया जिसके बाद लंदन पुलिस उन्हें गिरफ्तार करके ले गई. असांजे के वकील ने कहा है कि अमेरिका के कहने पर असांजे को गिरफ्तार किया गया है

असांजे की गिरफ्तारी के बाद फ्रीडम ऑफ प्रेस की बहस दुनियाभर में एक बार फिर से शुरू हो गई है. लोग कह रहे हैं कि बतौर पत्रकार आप कुछ भी कह सकते हैं लिख सकते हैं लेकिन आपको ध्यान रखना होगा कि आपको जान से मारा जा सकता है या आपको गिरफ्तार किया जा सकता है तो आपको अपना ध्यान रखना होगा. ये सिर्फ एक पत्रकार की  गिरफ्तारी नहीं है बल्कि इंनवेस्टिगेटिव जर्नलिज्म का बहुत बड़ा काला दिन है

एक और ट्विटर यूजर ने लिखा कि हमें ये मानना पड़ेगा कि जो पत्रकार सच्चाई और बोलने की आजादी के लिए लड़ रहे हैं उन्हें आज अपराधी की तरह देखा जा रहा है और उनके साथ अपराधियों जैसा ही सलूक किया जा रहा है. वहीं एक और ट्विटर यूजर का कहना है कि अच्छा हुआ कि असांजे गिरफ्तार हो गए. सात साल तक छुपने और खुद को हीरो की तरह साबित करने वाले असांजे अब उन भ्रष्ट नेताओं और अफसरों के बारे में बताएंगे साथ ही साथ स्वीडन में उनके खिलाफ सेक्सुअल असॉल्ट को लेकर ट्रायल भी चलेगा.

Who is Julian Assange: आखिर कौन है जूलियन असांज और क्या है विकीलीक्‍स, यहां जानें

Julian Assange Wikileaks Arrested: विकिलीक्‍स के संस्थापक जूलियन असांज लंदन में गिरफ्तार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App