वाशिंगटन: जॉनसन एंड जॉनसन को उस वक्त तगड़ा झटका लगा जब अमेरिका में एक जूरी ने 22 महिलाओं और उनके परिजनों को क्षति पहुंचाने पर कंपनी को 4.69 अरब डॉलर के भुगतान करना का आदेश दिया. कहा जा रहा है कि जॉनसन एंड जॉनसन के टैल्कम पाउडर की वजह से उन्हें ओवेरियन कैंसर हो गया. भारत में जॉनसन एंड जॉनसन काफी लोकप्रिय ब्रांड है, गौरतलब है कि अब तक के लगभग 9000 मामलों में से ये सबसे बड़ी जुर्माने की कार्रवाई बताई जा रही है. आप लोगों की जानकारी के लिए ऐसे ही मामले में अब तक 6 महिलाओं की मृत्यु हो चुकी है. 

भारत और विदेश में ज्यादातर परिजन अपने बच्चों के लिए जॉनसन एंड जॉनसन के पाउडर का इस्तेमाल करते हैं. गौरतलब है कि इससे पहले एक मामले में जॉनसन एंड जॉनसन पर 72 मिलियन का जुर्माना लगाया था. जॉनसन एंड जॉनसन के स्पोक्सवुमैन कैरोल गुडरिच ने जानकारी देते हुए बताया कि वह आदेश के खिलाफ अपील करेंगे. कैरोल गुडरिच ने कहा कि इस मामले का प्रोसेस गलत था. कंपनी ने अपनी दलील में कहा कि उनके टैल्कम पाउडर में एस्बेस्टस या कैंसर कारक पदार्थ नहीं हैं. समाचार एजेंसी के मुताबिक, मुआवजे को क्षतिपूर्ति के तौर पर 55 करोड़ डॉलर और दंडात्मक जुर्माने के तौर पर 4.14 अरब डॉलर में वितरित किया गया है.

लाहौर एयरपोर्ट पर गिरफ्तार हुए पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ और मरियम नवाज शरीफ

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App