न्यूयॉर्क: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जिम्मी कार्टर को मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लेकर दिए गए बयान से यूएस में एक बार फिर से बहस छिड़ गई है कि क्या ट्रंप को जिताने के लिए रूस ने मदद की थी. जिमी कार्टर ने कहा कि इस बात की विस्तृत जांच होनी चाहिए कि साल 2016 में अमेरिकी में हुए राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप को जिताने के लिए रूस ने मदद की थी या नहीं. उन्होंने कहा कि हालिया जांच रिपोर्ट बताती है कि अगर रूस मदद नहीं करता तो ट्रंप 2016 में अमेरिकी राष्ट्रपति पद का चुनाव नहीं जीत पाते.

जिम्मी कार्टर ने कहा कि ‘इसमें कोई शक नहीं है कि राष्ट्रपति चुनाव में रूस ने दखल दी थी और मुझे लगता है कि इस दखल की मात्रा निर्धारित नहीं थी. अगर इस मामले की पूरी जांच की जाए तो पता चलता है कि असल में ट्रंप चुनाव में जीते ही नहीं थे. असल में वो चुनाव हार गए थे लेकिन वो अमेरिकी राष्ट्रपति की कुर्सी पर इसलिए बैठे हैं क्योंकि रूस ने उनकी तरफ से दखलअंदाजी की.’

उनसे जब ये पूछा गया कि क्या उन्हें लगता है कि राष्ट्रपति ट्रंप नाजायज राष्ट्रपति हैं तो उन्होंने थोड़ी देर चुप रहने के बाद कहा कि ‘मेरे कहने के आधार पर जिसे मैं वापस नहीं ले सकता’ गौरतलब है कि स्पेशल काउंसिल मुलेर की रिपोर्ट के मुताबिक रूस ने व्यापक और व्यवस्थित तरीके से ट्रंप के लिए कैंपेनिंग की. लेकिन वो ट्रंप और मास्को के बीच साजिश को साबित नहीं कर पा रहे हैं.

राष्ट्रपति ट्रंप की विदेश नीतियों की निंदा करते हुए कार्टर ने कहा कि उनकी वजह से देश में नस्लवाद बढ़ रहा है. उन्होंने बताया कि अप्रैल में टेलिफोन पर उनकी और ट्रंप और बात हुई थी जिसमें अमेरिका-चीन व्यापार को लेकर बातचीत हुई थी. उन्होंने ये भी कहा कि ‘मैने ट्रंप के सामने प्रस्ताव रखा था कि आप अगर चाहें तो आपके प्रतिनिधि के तौर पर मैं उत्तर कोरिया जाकर वहां के तानाशाह किम जोंग उन के साथ मुलाकात कर सकता हूं.’

PM Narendra Modi G-20 Summit Japan: जी-20 शिखर सम्मेलन का आज आखिरी दिन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडोनेशिया के जोके विडोडो और ब्राजील के जैर बोलसोनारो से की मुलाकात

Narendra Modi Donald Trump Meeting at G20 Summit: जी-20 समिट में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मिले नरेंद्र मोदी, 5G, ईरान और आपसी सहयोग के मसले पर हुई बात

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App