नई दिल्ली: जापान का पासपोर्ट अब दुनिया में सबसे शक्तिशाली बन गया है. पहले यह तमगा सिंगापुर को हासिल था. शुक्रवार को जारी हेनली पासपोर्ट इंडेक्स में कहा गया कि जापानी टूरिस्ट्स 190 देशों में बिना वीजा या वीजा अॉन अराइवल के जरिए यात्रा कर सकते हैं. जापानी पासपोर्ट ने सिंगापुर पासपोर्ट की जगह ली, जिसके जरिए 189 देशों में पहले वीजा लिए बिना यात्रा की जा सकती है. इस सूची में तीसरे स्थान पर जर्मनी, साउथ कोरिया और फ्रांस हैं. उज्बेकिस्तान और म्यांमार में वीजा फ्री एक्सेस मिलने के बाद फ्रांस और साउथ कोरिया तीसरे नंबर पर आ गए हैं. चौथे नंबर पर डेनमार्क, इटली, स्पेन, फिनलैंड और स्वीडन हैं.

वहीं ब्रिटेन और अमेरिकी नागरिक 186 देशों में यात्रा कर सकते हैं. सबसे शक्तिशाली पासपोर्ट की लिस्ट में ब्रिटेन चौथे और अमेरिका पांचवे नंबर पर हैं क्योंकि इस साल उन्हें किसी नए देश में वीजा या वीजा अॉन अराइवल का एक्सेस नहीं मिल पाया. बता दें कि साल 2015 में ब्रिटेन और अमेरिकी पासपोर्ट दुनिया में सबसे शक्तिशाली थे. 

छठे नंबर पर आयरलैंड, बेल्जियम, स्विट्जरलैंड और कनाडा का नंबर है. सातवें नंबर पर अॉस्ट्रेलिया, मालटा और ग्रीस है. आठवें नंबर पर क्रेज रिपब्लिक और न्यूजीलैंड हैं,जिनके नागरिक 182 देशों में यात्रा कर सकते हैं. नौंवे नंबर पर आइसलैंड है, जिसे 181 देशों में जाने का एक्सेस है. वहीं मलेशिया, स्लोवाकिया और हंगरी दसवें नंबर पर हैं. भारत के स्थान में कोई बदलाव नहीं हुआ है और वह इस साल भी 81वें पायदान पर है.   

Mehul Choksi interview Highlights: रोते हुए मेहुल चौकसी ने कहा- मुझे बलि का बकरा बनाया गया

सृजन घोटाला: बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी की बहन रेखा मोदी के घर इनकम टैक्स का छापा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App