Friday, December 9, 2022
गुजरात नतीजे (182/182)  हिमाचल नतीजे (68/68) 
BJP - 156 BJP - 25
AAP - 05 CONG - 40 
CONG - 17  AAP - 00
OTH - 04  OTH - 03 

UP Crime: बीवी ने दोबारा सेक्स करने पर जताया ऐतराज़ तो पति ने गला...

0
UP Crime: उत्तर प्रदेश के अमरोहा ज़िले से रिश्तों को तार-तार करने वाला वाकया निकलकर सामने आ रहा है. जहाँ पर एक पति ने...

दिल्ली: कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, MCD चुनाव जीतने वाले पार्षद AAP में शामिल

0
नई दिल्ली. एमसीडी चुनाव के नतीजे आ गए हैं. एमसीडी में आम आदमी पार्टी को पूर्ण बहुमत मिली है. दिल्ली नगर निगम चुनाव के...
MG 4 EV

नए साल पर पेश होने वाली है ये इलेक्ट्रिक कार, मिलेगी 452km की रेंज!

0
MG 4 EV: देश की कार कंपनी एमजी मोटर इंडिया (MG Motor India) अगले साल के आगाज़ में एकदम नई इलेक्ट्रिक कार पेश करेगी।...

Gujarat Muslim Seats: जानिए क्या है गुजरात की मुस्लिम बहुल्य सीटों का हाल?

0
Gujarat Muslim Candidates: गुजरात विधानसभा के नतीजों के बाद साफ़ है कि भारतीय जनता पार्टी ने भारी बढ़त के साथ जीत हासिल की है....

लखनऊ: इकाना में होगी भारत न्यूजीलैंड की टक्कर, क्या है टी-20 सीरीज का शेड्यूल?

0
लखनऊ: सूबे की राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर विस्तार में शहीद पथ स्थित भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी इकाना अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में एक बार...

जापान: शिंजो आबे के निधन से उनकी पार्टी को मिली जमकर सहानुभूति, भारी बहुमत से जीता चुनाव

जापान उच्च सदन चुनाव:

नई दिल्ली। जापान की सियासत में आज का दिन ऐतिहासिक है। सत्ताधारी पार्टी एलडीएफ ने उच्च सदन के चुनाव में भारी बहुमत से जीत दर्ज की है। जापानी मीडिया की मानें तो इस चुनाव में एलडीएफ पार्टी को पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की हत्या से मिली सहानुभूति ने भी खूब फायदा पहुंचाया है।

भारी बहुमत से जीती आबे की पार्टी

एलडीएफ और उसकी सहयोगियों को जापान के 248 सदस्यीय उच्च सदन में 146 सीट हासिल हुई है, जो बहुमत के आंकड़े से काफी ज्यादा हैं। इस जीत के साथ ही अब स्पष्ट हो गया है कि प्रधानमंत्री फुमिओ किशिदा वर्ष 2025 तक अपने पद पर बने रहेंगे।

एलडीपी के कद्दावर नेता थे आबे

जापान की लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (एलडीपी) में पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे का काफी प्रभाव था। वे इसी पार्टी के नेता के तौर पर दो बार जापान के प्रधानमंत्री के रूप में कार्यभार संभाल चुके थे। दोनों ही बार उन्होंने अपने खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री के पद को छोड़ दिया था। दूसरी बार उन्होंने साल 2020 में प्रधानमंत्री का पद छोड़ा था। जिसके बाद भी वो संसद सदस्य और एलडीपी में प्रभावशाली नेता बने रहे।

शुक्रवार को हुई थी हत्या

बता दें कि 8 जुलाई को जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की हत्या कर दी गई। उन पर नारा शहर में हमला हुआ था। जिसमें आबे बुरी तरह घायल हो गए थे। जापानी मीडिया के अनुसार अस्पताल में इलाज के दौरान आबे की मौत हुई। आबे नारा में करीब 100 लोगों की एक छोटी सी सभा को संबोधित कर रहे थे। उसी दौरान पीछे से एक हमलावर ने गोली चलाई। जिसके बाद वो नीचे गिर गए थे।

पूरे देश में शोक की लहर

गौरतलब है कि पूर्व पीएम शिंजो आबे के निधन से फिलहाल जापान में शोक की लहर है। इस बीच आज जापान के संसद के ऊपरी सदन के लिए चुनाव जारी हैं। जानकारी के मुताबिक पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे का पार्थिव शरीर को ले जाने वाला एक काफिला 9 जुलाई को जापानी राजधानी में उनके घर पहुंचा था।

महाराष्ट्र: पूछताछ के लिए ईडी कार्यालय पहुंचे संजय राउत, कहा- जिंदगी में कभी गलत काम नहीं किया

Latest news