टोक्यो. जापान में एक खतरनाक हगिबीस तूफान ने दस्तक दे दी है. यह इस दशक का सबसे शक्तिशाली तूफान माना जा रहा है. टोक्यो के पास भूस्खलन होने से अब तक 2 की मौत और 70 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं.  जापान की राजधानी टोक्यो और उसके आस-पास के इलाकों में आंधी और भारी बारिश का अलर्ट जारी कर दिया है. तूफान की वजह से करीब 50 लाख लोगों अपना घर छोड़कर सुरक्षित जगह जाने को कहा गया है. जापान की मौसम एजेंसी ने कहा है कि हगिबीस तूफान टोक्यो के पास शनिवार शाम तक टकराने वाला था. जिससे बाढ़ और भूस्खलन की स्थिति पैदा होने वाली है.

अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हगिबीस तूफान की वजह से टोक्यो में आयोजित हो रहे रग्बी वर्ल्ड कप को भी रद्द कर दिया गया है. वहीं रविवार को सुजाका में होने वाली फॉर्मूला वन रेस पर भी संकट के बादल छाए हैं. स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पूर्वी टोक्यो के इचीहारा में एक गाड़ी पलटने से  एक की मौत हो चुकी है. तूफान से इचीहारा में दर्जनों घरों को नुकसान पहुंचा है. 

जापान की एजेंसी के मुताबिक हगिबीस शब्द का फिलीपिंस में मतलब गति यानी स्पीड से है. अपने नाम की तरह इस तूफान की स्पीड भी बहुत तेज होगी. पिछले कुछ दशकों में टोक्यो में आए तूफानों में यह सबसे खतरनाक होगा. शनिवार शाम तक इस तूफान के टोक्यो में आने की संभावना जताई जा रही है लेकिन तेज हवाएं अभी से शुरू हो चुकी है. 

जापान की राजधानी टोक्यो में 1958 में खतरनाक तूफान आया था, जिसमें करीब 1500 लोगों की जान चली गई थी, मौसम एजेंसी का कहना है कि हगिबीस इससे भी ज्यादा शक्तिशाली है और इससे और ज्यादा तबाही होने वाली है. 

जो लोग अभी तक अपना घर नहीं छोड़ पाए हैं उन्हें आस-पास की मजबूत इमारतों में जाने की सलाह दी गई है क्योंकि कमजोर इमारतें इस तूफान के सामने टिक नहीं पाएंगी. तूफान का अलर्ट जारी होने के बाद टोक्यो में सार्वजनिक परिवहन बंद हो गया है. टोक्यो से आने और वहां से जाने वाली सभी फ्लाइट्स भी रद्द कर दी गई हैं. साथ ही अधिकतर ट्रेनों को भी सस्पेंड कर दिया गया है. 

Also Read ये भी पढ़ें-

दिल्ली, यूपी, बिहार समेत उत्तर भारत में कभी भी आ सकता है विनाशकारी तीव्रता का भूकंप- एक्सपर्ट

पूर्वांचल के वाराणसी, गोरखपुर, देवरिया समेत 15 जिलों में भारी बारिश और बाढ़ ने मचाई तबाही, देखें फोटो वीडियो