जेरुशलम. भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना कर रहे इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने बारे में इजरायली पुलिस का कहना है कि उन पर रिश्वतखोरी, धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार का मामला चलना चाहिए. पुलिस का कहना है कि बेंजामिन नेतन्याहू के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं. इजरायल पुलिस ने मंगलवार को सिफारिश करके कहा कि प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को रिश्वतखोरी का आरोप लगाया जाए.

इजरायली पुलिस ने बताया कि एक साल की जांच के बाद हमने पाया कि नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार के दो मामलों में मुकदमा चलना चाहिए. पहला मामला जिसे पुलिस ने ‘केस 2000’ कहा है, एक बड़े इजरायली समाचार पत्र येदिओत अहारोनो के मालिक के साथ सकारात्मक कवरेज के बदले समाचार क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा को कम करने के बारे में है. इजरायली पुलिस के अनुसार, नेतन्याहू इस्राइली-अमेरिकी हॉलीवुड निर्माता अरबपति ऑरनॉन मिलकैन से रिश्वत लेने और एक समाचार पत्र के प्रकाशक को सकारात्मक कवरेज के लिए व्यावसायिक सहायता पहुंचाने के सबूत मिले हैं.

अब न्याय मंत्रालय ने कहा कि सुनवाई अटॉर्नी-जनरल अविचाई मंडेलब्लैट द्वारा की गई जाएगी. यह माना जाता है कि मंडेलब्लैट यह फैसला करेंगे कि क्या सारा नेतन्याहू को दंड देना चाहिए या नहीं. वहीं न्याय मंत्रालय ने सितंबर 2017 में कहा था कि नेतन्याहू पर सामान खरीदने, धोखाधड़ी और विश्वासघात का संदेह है. मंत्रालय ने कहा था कि उन पर अभियोग का विचार चल रहा है.

फिलिस्तीन जाने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री होंगे नरेंद्र मोदी, तीन देशों की यात्रा का ऐलान, UAE और ओमान भी जाएंगे PM

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App