इस्लामाबाद. पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में शनिवार से प्रदर्शन के बाद जारी हिंसा में अब तक 6 लोगों का मौत हो चुकी है, जबकि 200 से अधिक लोग घायल भी हो गए है. हालात को बेकाबू होता देख पाकिस्तान सरकार ने सेना को प्रभावित इलाकों में तैनात कर दिया है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एक इस्लामी संगठन के प्रदर्शन के दौरान हिंसा भड़क गई, जिसने देखते देखते विकराल रुप ले लिया. सुरक्षाबलों को प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोलों का सहारा लेना पड़ा. घायलों में अधिकतर सुरक्षाकर्मी बताए जा रहे हैं, जिन पर उग्र भीड़ ने पथराव किया था.

वहीं इस हिंसा पर अपनी नाकामी छिपाने के लिए पाकिस्तान ने फिर से पुराना राग अलापना शुरू कर दिया है. पाकिस्तान इस हिंसा में भारत का हाथ बता रहा है. पाकिस्तान के गृहमंत्री अहसान इकबाल ने भारत पर आरोप लगाते हुए कहा कि ‘पिछले दो हफ्ते से ज्यादा समय से इस्लामाबाद में प्रदर्शन कर रही कट्टरपंथी धार्मिक पार्टियों ने भारत से संपर्क किया था और सरकार इस बात की जांच कर रही है कि उन्होंने ऐसा क्यों किया? बता दें कि इस्लामाबाद में पिछले दो हफ्ते से तहरीक-ए-लब्बैक या रसूल अल्लाह के कार्यकर्ता इस्लामाबाद एक्सप्रेसवे पर प्रदर्शन कर रहे थे.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार तहरीक-ए-लबाइक, सुन्नी तहरीक पाकिस्तान आदि संगठनों के दो हजार से अधिक आंदोलनकारियों ने पिछले दो सप्ताह से एक्सप्रेस वे, रावलपिंडी के गैरीसन शहर और इस्लामाबाद के एकमात्र एयरपोर्ट को जोड़ने वाली मुर्रे सड़क पर कब्जा कर रखा था. पाकिस्तान के गृहमंत्री एहसान इकबाल के खिलाफ शुक्रवार को इस्लामाबाद हाई कोर्ट (आइएचसी) ने अदालत की अवमानना का नोटिस जारी किया था. इसके बाद यह अभियान शुरू किया गया. यह नोटिस सड़क खाली कराने से संबंधित अदालत के आदेश को लागू करने में नाकाम रहने के बाद जारी किया गया था.

पाकिस्तान ने हिंसा को देखते हुए मीडिया को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया है. पाकिस्तान सरकार ने टीवी चैनलों को भी कुछ घंटे या दिनों के लिए ऑफ एयर करने का आदेश जारी कर दिया है. साथ-साथ सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, ट्विटर और अन्य सोशल साइट्स पर रोक लगा दिए गए हैं. सुरक्षा अधिकारियों के मुताबिक प्रदर्शनकारियों को काबू करने के लिए आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए. प्रदर्शन की निगरानी के लिए लगाए गए कैमरों के वायर भी प्रदर्शनकारियों ने काट दिए हैं.

पाकिस्तान: इस्लामाबाद में हिंसक प्रदर्शन, पाक मंत्री हसन इकबाल ने भारत को ठहराया जिम्मेदार

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर